टिकटों पर कैंची के बाद BJP में पहली बगावत, केजरीवाल कैंप में चला गया MLA

भारतीय जनता पार्टी ने गुजरात में 160 सीटों पर उम्मीदवारों का ऐलान कर दिया है। पार्टी ने करीब तीन दर्जन विधायकों का टिकट काट दिया है। टिकट काटे जाने से नाराज मातर विधायक ने बगावत करते हुए भाजपा से इस्तीफा दे दिया। खेड़ा जिले के मातर सीट से दो बार के विधायक केसरी सिंह सोलंकी ने आम आदमी पार्टी का दामन थाम लिया है। अरविंद केजरीवाल की अगुआई वाली पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष गोपाल इटालिया ने ट्विटर पर इसकी जानकारी दी।

इटालिया ने केसरी सिंह सोलंकी का स्वागत करते हुए तस्वीर साझा की और उनकी तारीफ की। इटालिया ने लिखा, ”केसरी सिंह सोलंकी जी, मातर के लोकप्रिय, मेहनती, निडर विधायक आज अरविंद केजरीवाल की ईमानदार राजनीति से प्रभावित होकर आम आदमी पार्टी में शामिल हुए। मैं आम आदमी पार्टी में श्री केसरी सिंह जी का स्वागत करता हूं। हम गुजरात में एक ईमानदार सरकार बनाएंगे।”

ये भी पढ़ें-  20 दिन का बिज़ली बिल भी माफ़ ना हो सका, 20 लाख करोड़ के आर्थिक पेकेज़ में।

सत्ताधारी भाजपा ने गुरुवार को 160 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी की। पार्टी ने मातर सीट से कल्पेश परमार को उम्मीदवार बनाया है। इससे पहले 2014 और 2017 में सोलंकी ने यहां जीत हासिल की थी। सोलंकी ने 2014 में यहां उपचुनाव में जीत दर्ज की थी। देवुसिंह चौहान के लोकसभा सांसद बन जाने के बाद यह सीट खाली हुई थी। चौहान इस समय केंद्र में संचार राज्यमंत्री हैं। सोलंकी ने 2017 में भी विधानसभा चुनाव में यहां जीत हासिल की थी। ‘आप’ माहीपत सिंह चौहान को इस सीट से टिकट दे चुकी है।

ये भी पढ़ें-  वांसदा के कांग्रेसी विधायक अनंत पटेल पर हमला, आंख में चोट

कौन हैं केसरी सिंह?
केसरी सिंह सोलंकी गुजरात की मातर से बीजेपी विधायक हैं। वह दो बार बीजेपी की टिकट पर चुनाव जीतकर विधानसभा पहुंचे हैं। केसरी सिंह अक्सर अपने कामों को लेकर विवादों में बने रहते हैं। पुलिस ने 2021 में केसरी सिंह को पावागढ़ में शराब पार्टी और जुआ खेलते हुए पकड़ा था। इस मामले में कोर्ट ने उन्हें 2 साल की सजा भी सुनाई थी. साथ ही उन पर चार हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया था।