सीबीआई में भी भ्रष्टाचार, 3 साल में 19 अफसरों पर FIR

CBI
CBI

देश की सबसे विश्वसनीय जांच एजेंसी सीबीआई (Central Bureau of Investigation) ने भ्रष्ट आचरण में लिप्त अपने ही 19 अधिकारियों के खिलाफ केस दर्ज किए है। यह 19 केस पिछले 3 साल में दर्ज किए गए हैं ओर यह जानकारी केंद्रीय मंत्री डॉ जितेंद्र सिंह ने संसद में पूछे गए सवाल पर दी है।

लोकसभा में एक सदस्य ने प्रधानमंत्री कार्यालय से सवाल पूछा था कि क्या सीबीआई में भ्रष्टाचार की घटनाएं हुई हैं, अथवा हो रही हैं, अगर हो रही हैं तो सरकार ने इसे रोकने के लिए क्या कदम उठाए ओर क्या कदम उठा रही है इस सवाल के साथ सदन में पीएमओ से पिछले 3 साल का आंकड़ा मांगा गया था।

ये भी पढ़ें-  जोधपुर में पटवारी बीरबल राम को 25 लाख रुपए की रिश्वत लेते पकड़ा।

इस सवाल के जवाब में कार्मिक राज्य मंत्री ने कहा कि सीबीआई ने भ्रष्टाचार में शामिल पाए गये अपने ही 19 अफसरों के खिलाफ भ्रष्टाचार रोकथाम कानून के तहत मुकदमा दर्ज किया है और 2016 से लेकर 30 जून 2019 तक 19 मामले सामने आए हैं।

बता दें कि पिछले साल अक्टूबर में सीबीआई ने अपने ही विभाग के तत्कालीन विशेष निदेशक राकेश अस्थाना के खिलाफ रिश्वत लेने का मामला दर्ज किया था, इसके अलावा सीबीआई के पुलिस उपाधीक्षक देवेन्द्र कुमार के खिलाफ भी केस दर्ज किया गया था। दिन प्रतिदिन सीबीआई में बढ़ते भ्रष्टाचार कि खबरें भी सामने आती रही है ऐसे में यह कहना गलत नहीं होगा की धीरे धीरे अब लोगो का सीबीआई से विश्वश उठता दिखाई दे रहा है।

ये भी पढ़ें-  नशे के सौदागरों के खिलाफ सीबीआई का ऑपरेशन गरुड़

वैसे सीबीआई ने अपने कितने अधिकारियों के खिलाफ़ केस दर्ज़ किए यह जानकारी तो मंत्री जी ने संसद में दे दी, लेकिन ऐसे कितने मामले है जिनके विषयों में भ्रष्टाचार ओर घोटालो की शिकायतें मिलने के बाद भी सीबीआई ने उन मामलों में संलिप्त अधिकारियों पर कार्यवाही नहीं की गई? इसके अलावे जनता द्वारा, आरटीआई कार्यकर्ताओं द्वारा तथा सामाजिक कार्यकर्ताओं एवं पत्रकारों द्वारा मिली कितनी शिकायतों पर कार्यवाही नहीं की गई? यह भी एक महत्वपूर्ण सवाल है।