गुजरात में एक साथ 150 स्थानों पर छापेमारी, राज्य एटीएस और जीएसटी का जॉइंट ऑपरेशन

गुजरात एटीएस ने जीएसटी विभाग के साथ जॉइंट ऑपरेशन में शनिवार को सूरत, अहमदाबाद, जामनगर, भरूच और भावनगर जैसे जिलों में 150 स्थानों पर छापेमारी की है। सूत्रों ने बताया कि इस जॉइंट ऑपरेशन में टैक्स चोरी और अंतरराष्ट्रीय मार्गों से पैसे के लेन-देन की जांच की जा रही है।

बताया जा रहा है कि एजेंसियों ने फर्जी बिलों के नाम पर करोड़ों रुपये के लेनदेन के मामलों को लेकर ये छापेमारी की है। कुछ दिनों पहले ही सूरत पुलिस ने भी लगभग 500 करोड़ रुपये के गोरखधंधे का खुलासा किया था। उस समय 21 लोगों को गिरफ्तार किया गया था। जबकि केवल एक दिन पहले ही इनकम टैक्स विभाग ने गुजरात के कई जिलों में ताबड़तोड़ छापेमारी की थी। इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने राजकोट, भुज और गांधीधाम में कई बड़े बिजनेस हाउसों से जुड़े लोगों के यहां छापेमारी की थी। आईटी विभाग की ये छापेमारी रीयल स्टेट और फाइनेंस ब्रोकर के धंधे से जुड़े लोगों के यहां हुई थी। गुजरात में सरकारी एजेंसियों की ये छापेमारी ऐसे समय पर हो रही है, जबकि राज्य में विधानसभा के चुनावों की घोषणा की जा चुकी है। बहरहाल छापेमारी की इन कार्रवाइयों में कितनी रकम की बरामदगी की गई या कितनी टैक्स चोरी पकड़ी गई, इसका खुलासा नहीं हो सका है।

ये भी पढ़ें-  हां मैं पत्रकार हूं...

गुजरात में चुनाव पूर्व रिकॉर्ड नकदी बरामद
बता दें कि, सुरक्षा एजेंसियों ने विधानसभा चुनावों के दौरान रिकॉर्ड राशि की बरामदगी करते हुए गुजरात में 71 करोड़ 88 लाख रुपये की बरामदगी की है। सुरक्षा एजेंसियों ने विधानसभा चुनाव के मद्देनजर चुनाव आयोग के निर्देश पर विशेष अभियान चलाया था और इसके तहत चुनाव की घोषणा के कुछ ही दिनों के भीतर गुजरात में 71.88 करोड़ रुपये की बरामदगी हुई जो 2017 के विधानसभा चुनावों के लिए लागू आचार संहिता की पूरी अवधि के दौरान हुई 27.21 करोड़ रुपये की बरामदगी से कहीं ज्यादा है।

निर्वाचन आयोग ने कहा कि राजस्व खुफिया निदेशालय ने मुंद्रा पोर्ट पर ‘गलत घोषणा और आयात कार्गो में छिपाकर’ तस्करी किए जा रहे 64 करोड़ रुपये के खिलौने और सामान की बड़े पैमाने पर जब्ती की भी सूचना दी है। ईसी के मुताबिक, मामले में मुख्य साजिशकर्ता सहित दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है और आगे की जांच की जा रही है।

ये भी पढ़ें-  विदाई समारोह में बोले प्रधान न्यायाधीश उदय उमेश ललित - '10 हजार से अधिक मामले निपटाए'

दो चरणों में 01 दिसंबर और 05 दिसंबर को होगा चुनाव
गुजरात में अगले महीने होने जा रहे विधानसभा चुनाव से पहले यह छापेमारी काफी अहम मानी जा रही है। 182 सीटों वाली गुजरात विधानसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा हो चुकी है। दो चरणों में 01 दिसंबर और 05 दिसंबर को मतदान होगा। पहले चरण में 89 सीटों पर मतदान होगा, जबकि दूसरे चरण में 93 सीटों पर मतदान होगा।

गुजरात में आमतौर पर सत्तारूढ़ भाजपा और उसकी प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस पार्टी के बीच आमना-सामना होता रहा है, लेकिन आगामी चुनावों में आम आदमी पार्टी (आप) चुनावी मैदान में एंट्री से मुकाबला त्रिकोणीय होने के आसार हैं। गुजरात विधानसभा का कार्यकाल 18 फरवरी, 2023 को समाप्त हो रहा है।