गुजरात में फिर बनेगी बीजेपी सरकार या आप करेगी ‘खेल’? क्या है हिमाचल का मूड, सर्वे से जानें जनता की पसंद

गुजरात-हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव की तैयारियां चल रही हैं। किसी भी दिन तिथि का ऐलान हो सकता है। पार्टी की जीत पक्की करने के लिए दिग्गज भी मैदान में उतर गए हैं, लेकिन एबीपी न्यूज और सी वोटर के ओपिनियन पोल में दोनों राज्यों में भाजपा की वापसी के आसार हैं। इस बार ‘आप’ तीसरे खिलाड़ी के तौर पर नजर आएगी।

इस बार आपभी ठोकेगी ताल

दोनों राज्यों में इस बार आम आदमी पार्टी (आप) भी ताल ठोकने की पूरी तैयारी कर रही है। पार्टी के शीर्ष नेताओं की दोनों प्रदेशों में गतिविधियां तेज हो गई हैं। लोगों को आम आदमी पार्टी की नीतियों से अवगत कराने के साथ भाजपा और कांग्रेस पर तीखे बाण चलाए जा रहे हैं।

गुजरात पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का फोकस

ये भी पढ़ें-  भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया कोरोना पॉजिटिव, बिना मास्क कार्यक्रमों में की थी शिरकत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का फोकस गुजरात पर है। हाल ही में उन्होंने गुजरात का दौरा भी किया था। इस दौरान सूरत और भावनगर में 3400 करोड़ों रुपये की परियोजनाओं का शिलान्यास किया। भारतीय जनता पार्टी हर हाल में गुजरात राज्य पर अपनी पकड़ को ढीला होने देना नही चाहती है, इसके लिए वह पूरा जोर लगा रही है।

गुजरात में किसे कितनी सीट
(कुल सीट-182)

भाजपा 135-143
कांग्रेस 36-44
आप 0-2
अन्य 0-3

हिमाचल में किसे कितनी सीट
(कुल सीट- 68)

भाजपा 37-45
कांग्रेस 21-29
आप 0-1
अन्य 0-3

दोनों राज्यों में बीजेपी की वापसी का अनुमान

एबीपी न्यूज के लिए सी वोटर के द्वारा किए गए इस ओपिनियन पोल में गुजरात और हिमाचल प्रदेश, दोनों ही राज्यों में बीजेपी की फिर से वापसी का अनुमान है। पिछले विधानसभा चुनाव की बात करें तो हिमाचल प्रदेश में बीजेपी ने 44 सीटें जीती थीं और कांग्रेस 21 सीटों पर जीत दर्ज कर पाई थी। ओपिनियन पोल में इस बार भी दोनों ही पार्टियों को 2017 में मिली सीटों के आसपास ही सीटें मिलने का अनुमान है।

ये भी पढ़ें-  स्कूल खोलने के लिए सरकार कोई भी दिशानिर्देश जारी नहीं किया गया हैं

गुजरात में कांग्रेस को नुकसान?

गुजरात की बात करें तो 2017 के चुनाव में राज्य में बीजेपी ने 99 सीटें अपनी झोली में डाली थी। कांग्रेस ने 77 सीटों पर परचम लहराया था। ओपिनियन पोल में इस बार बीजेपी को भारी बढ़त मिल रही है। वहीं कांग्रेस को बड़ा नुकसान बताया जा रहा है। ओपिनियन पोल के हिसाब से इस बार कांग्रेस को 30 से ज्यादा सीटों के नुकसान का अनुमान है।