भिलाड़ चेकपोस्ट में दलालों का जमावड़ा, सरकार को चुना, अधिकारियों कि चाँदी।

Bhilad RTO

वलसाड : गुजरात के वलसाड जिले का भिलाड़ आर-टी-ओ चेकपोस्ट सबसे अधिक राजस्व देने वाली चेकपोस्टों कि सूची में है। भिलाड़ चेकपोस्ट गुजरात राज्य कि सीमा पर है और भिलाड़ से महाराष्ट्र राज्य सटा है। प्रतिदिन इस चेकपोस्ट से हज़ारों भारी माल वाहक वाहन गुजरात कि सीमा से महाराष्ट्र कि सीमा में प्रवेश करते है। इस चेकपोस्ट से सरकार को करोड़ों का राजस्व मिलता है। चेकपोस्ट पर सीसीटीवी लगे है कई कर्मचारी और अधिकारी भी तैनात है फिर भी टेक्स चोरी और ओवरलोडिंग आम बात है। टेक्स चोरी और ओवरलोडिंग कि वजह से कई बार गुजरात सरकार पर सवाल खड़े होते रहे है, कई बार भ्रष्टाचार कि बाते सामने आती रही है। इस चेकपोस्ट से अगर किसी को टैक्स चोरी या ओवरलोडिंग वाली गाड़ी पास करवानी हो तो बाजार में इस काले धंधे के लिए कई एजेंट भी मौजूद है।

8 घंटे कि सिफ्ट के हिसाब से हो रही है अवैध वसूली, 24 घंटे में एक लेन से 24000 कि अवैध वसूली।

सूत्रों द्वारा जानकारी मिली है कि भिलाड़ चेकपोस्ट पर प्रतिदिन लाखों कि अवैध वसूली कि जा रही है और माल वाहकों से गुजरात से महाराष्ट्र में प्रवेश हेतु 50 रुपये से 1000 रुपये प्रति वाहन तक वसूली कि जा रही है। जानकारी देने वाले ने नाम ना बताने कि शर्त पर बताया कि 6 पहिया वाहन से 50 रुपये, 10 पहिया वाहन से 100 रुपये, 35 पहिया वाहन से 200 रुपये और अधिकतम 1000 रुपये प्रति वाहन से वसूली कि जा रही है और जिसकी जानकारी भिलाड़ चेकपोस्ट के सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को है और इस अवैध वसूली में वह भी शामिल है। जानकारी देने वाले ने बताया कि वसूली करने वाले इतने शातिर है कि वह चेकपोस्ट के उस हिस्से में खड़े रहकर वसूली करते है जहां उन्हे सीसीटीवी केच ना कर पाए। केवल इतना ही नहीं वसूली के लिए अधिकारियों ने कई एजेन्ट और दलाल भी पाल रखे है कई ऐसे वसूलिकर्ता है जो घंटे के हिसाब से काम करते है और वसूली कर अपने अपने आका को दे देते है। क्रांति भास्कर कि टिम को कुछ नाम मिले है नाम है कपील जादव, मुकेश अननो, मुकेश वारली, परेश सेवक, योगेश पटेल, यादव भय्या, प्रमोद, जयेश स्वामी, मिलन इन नामों के बारे में बताया जाता है कि यही वह लोग है जो चेकपोस्ट से अवैध वसूली करते है वैसे इनके अलावे और कितने है यह तो जांच एजेंसियों को जांच कर पता लगाना चाहिए और गुजरात सरकार को चाहिए कि इस प्रकार होने वाली अवैध वसूली करने वालों पर ठोस कार्यवाही करें और अब तक उक्त चेकपोस्ट से किसने कितनी अवैध वसूली कि उसकी जांच कर उसकी रिकवरी करें।

Leave your vote

500 points
Upvote Downvote