हनमतमाल गांव में पोषण जागृति कार्यक्रम का आयोजन,मंत्री रमण पाटकर ने की शुरूआत

वलसाड। राज्य के सभी बालकों को कुपोषण से मुक्त कराने के लिए मुख्यमंत्री विजय रुपाणी द्वारा शुरू तीन दिवसीय कुपोषण अभियान के दूसरे दिन धरमपुर तहसील के हनमतमाल गांव में वन और आदिजाति विकास राज्य मंत्री रमणलाल पाटकर ने पोषण अभियान को सफल बनाने का अनुरोध गांव के अग्रणियों, माता पिता तथा सभी ग्रामीणों से किया।  वलसाड जिले की आंगनवाडिय़ों के 2329 बच्चे कुपोषित हैं। इन सभी बच्चों को पुष्ट बनाने का प्रयास करने का आह्वान मंत्री ने किया। उन्होंने कहा कि पौष्टिक आहार देना हमारी जिम्मेदारी है। ऐसे में गांव के अग्रणियों को आंगनवाड़ी का समय समय पर निरीक्षण कर वहां चल रही प्रवृत्तियों की जानकारी लोगों को लेनी चाहिए। उन्होंने बताया कि कम उम्र में विवाह होने पर माता बनने के दौरान बच्चों के कुपोषण की समस्या ज्यादा रहती है। जिसके लिए सभी माता पिता को ध्यान रखना जरुरी है। राज्य सरकार  सगर्भा माता की पूर्ण देखभाल करती है। जिसके लिए स्वास्थ्य जांच और जरुरी रसीकरण भी होता है। धरमपुर के विधायक अरविन्द पटेल ने बच्चों को तंदुरस्त और सशक्त बनाने के लिए मानवतावादी कार्य में सभी को सहयोगी होने पर अभिनंदन किया। इस दौरान किशोरियों और धात्रीमाताओं को अन्नप्राशन, मातृशक्ति और टीएचआर का वितरण किया गया।