भ्रष्ट अधिकारियों को संरक्षण दे रहे है जिला पंचायत के अध्यक्ष केतन पटेल!

संध प्रदेश दमन में बढ़ते भ्रष्टाचार को ख़त्म करने वाले नेता पर ही भ्रष्टाचार में संलिप्तता का आरोप, या भ्रष्ट अधिकारियों को संरक्षण दे रहे है जिला पंचायत के अध्यक्ष केतन पटेल, इस मामले में जांच की माँग।

वैसे तो क्रांति भास्कर ने भ्रष्टाचार के कई मामलों में खुलासा किया, जिनमे कई विभाग एवं एवं विभागीय अधिकारी शामिल है, इसके अलावे पूर्व में एक स्टिंग के दौरान दमन सतर्कता विभाग के अधीक्षक द्वारा जिला पंचायत के भ्रष्टाचार का खुलासा भी किया, क्रमस क्रांति भास्कर द्वारा सतर्कता विभाग के अधीक्षक का किया गया स्टिंग एवं जिला पंचयात को लेकर सतर्कता विभाग के अधीक्षक धीरूभाई की बात अब बिल्कुल सही साबित होती दिखाई दे रही है।

हालही में जिला पंचायत के सदस्य रामुभाई पटेल द्वारा समाहर्ता को पत्र देकर बताया गया है की जिला पंचायत में भ्रष्टाचार किस हद तक है, तथा इस पत्र में जिला पंचयात द्वारा जारी निविदाओं के संबंध में कई गदबड़ियों की आशंका जताई है। कहां जा रहा है की जिला पंचायत के अध्यक्ष की देख-रेख में पंचायत के अभियंता मनमानी कर जहां विकासीय धन का दुरुपयोग कर रहे है,वहीं जिन कार्यों को पूर्व में ही पूर्ण कर दिया गया है उनके पुनः ठेके देने हेतु निविदाए निकाल रहे है,इस मामले में कुछ निविदाओं का हवाला भी दिया गया है।

ये भी पढ़ें-  दीव दौरे के दूसरे दिन प्रशासक प्रफुल पटेल ने, पर्यटक स्थलों का भ्रमण कर विकास कार्यो का लिया जायजा 

बताया जाता है की वर्ष 2013-14 में किए गए कार्यों का ठेका देने हेतु वर्ष 2014-15 में जिला पंचायत द्वारा निविदाए निकाली जा रही है,एवं इस मामले में शंका जताई जा रही है की फिलवक्त जारी निविदाओं के बिनाह पर केवल भुगतान करने की शाजिस से घोटाले को अंजाम दिया जाएगा,इस मामले में हकीकत क्या है और क्यों पूर्व में करवाए कार्यों की पुनः निविदाए प्रकाशित की गई,इस मामले में समाहर्ता को जाँच के लिए एक निवेदन भी प्रस्तुत किया गया है। लेकिन जिला पंचायत में चल रहे इस गोरख धंधे से जहां आम जनों के विकास हेतु आई राशि का बंदरबांट होता दिखाई दे रहा है,वहीं सरकारी अधिकारी एवं अभियंताओं के साथ जिला पंचायत के अध्यक्ष केतन पटेल की मिलीभगत पर भी सवाल खड़े होते दिखाई दे रहे है,हालांकि इस मामले में केवल भ्रष्टाचार ही अहम भूमिका एवं प्रश्न नहीं है,करवाए गए कार्यों से लेकर अभी प्रकाशित की गई निविदाओं में केंद्रीय लोक निर्माण विभाग के नियमों को भी ताख पर रखने जैसी बाते सामने आई है,अब संध प्रदेश के समाहर्ता इस मामले में जिला पंचायत के अभियंताओं पर क्या कार्यवाई करते है यह तो देखने वाली बात है,लेकिन इस मामले से जिला पंचायत के अध्यक्ष केतन पटेल की भूमिका एवं ईमानदारी पर भी सवाल खड़े होते दिखाई दे रहे है।

ये भी पढ़ें-  दमन में हुई फाइरिंग मामले में, तीन आरोपी गिरफ्तार

पूर्व में सतर्कता विभाग के अधीक्षक ने कहां था,जिला पंचायत में करोड़ों का भ्रष्टाचार,इस मामले में क्रांति भास्कर की वेब-साइट पर अभी वह स्टिंग का क्लिप मोजूद है,आखिरकार क्रांति भास्कर द्वारा जिला पंचायत के भ्रष्टाचार को लेकर प्रकाशित खबरे एवं सतर्कता विभाग के अधीक्षक की बात हुई सही साबित।

ये भी पढ़ें-  दमन-दीव उप विधुत सचिव की आमदनी करोड़ों में।

 

जनता से विकास का वादा करने वाले खुद ही भ्रष्टाचार के सवालों में फंसते नजर आ रहे है।

 

 

आनेवाले जिला पंचायत चुनावों में भ्रष्टाचार बन सकता है मुख्य मुद्दा। बढ़ सकती है केतन पटेल की मुश्किले। जनता में जिला पंचायत में हुई गदबड़ियों को लेकर जाँच की माँग।