कांग्रेस और एन-सी-पी से आए नेता ला रहे है भाजपा के बुरे दिन!

Gopal-Tendel-02
Gopal-Tendel-02

दमन : अब और कितने दिन दमन-दीव भाजपा के अध्यक्ष गोपाल टंडेल को दमन-दीव भाजपा के वरीय कार्यकर्ताओं का कोप भाजन बनना पड़ेगा यह तो भाजपा आलाकमान को देखना है, लेकिन एक कहावत है की रोज़ के बखेड़े से एक दिन की बेकारी अच्छी! संध प्रदेश दमन-दीव में जब से भाजपा अध्यक्ष पद पर गोपाल टंडेल की नियुक्ति हुई है तब से भाजपा के सविधान, नीति, और कार्यकर्ताओं मान मर्यादा सब मानों ताख पर रख कोई एक व्यक्ति अपनी हुकूमत चला रहा हो।

[miptheme_quote author=”” style=”text-center”]गोपाल दादा के मामले को न्यायालय ले जाने कि तैयारी! भाजपा के लिए पनौती बने गोपाल दादा! दमन-दीव भाजपा का अंतर्कलह अदालत पहुंचने के कगार पर।[/miptheme_quote]

अब बताया जाता है कि, गोपाल दादा को भाजपा संविधान के प्रावधानों को ताख पर रखकर दमन-दीव भाजपा का अध्यक्ष बनाये जाने को अदालत में चुनौती दी जा सकती है। गोपाल दादा को असंवैधानिक और अवैध अध्यक्ष बताकर बखेड़ा खड़े करने वाले वरिष्ठ कार्यकर्ता नवीनचंद्र अख्खुभाई पटेल ने इस मसले को कोर्ट में ले जाने की चेतावनी दी है। गोपाल दादा के सिर पर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष का ताज रखने वाले संगठन महामंत्री विवेक दाडकर को पत्र लिखकर नवीनचंद्र पटेल ने कहा कि हम जैसे वरिष्ठ कार्यकर्ताओं को इस बात का बड़ा ही दुःख है कि हम सबको विश्वास में लिये बिना ही आपने गोपाल दादा को दमन-दीव भाजपा का अध्यक्ष बना दिया। भाजपा संविधान को ताख पर रखकर जिस तरीके से आप सभी ने गोपाल दादा को प्रदेश अध्यक्ष बनाया है उसकी चौतरफा छीछालेदर हो रही है। भाजपा के समर्पित कार्यकर्ताओं को इससे ठेस पहुँची है। गोपाल दादा को प्रदेश भाजपा अध्यक्ष बनाये जाने से मेरे जैसे पुराने और समर्पित कार्यकर्ताओं को लग रहा है कि उनके साथ अन्याय हुआ है।

ये भी पढ़ें-  कोन कहता है CBI बिकती नहीं है!
BJP Congress Daman
BJP Congress Daman News

मैं आपसे जानना चाहता हूँ कि आखिर नये सिरे से दमन-दीव भाजपा की बॉडी कब बनेगी ? कब संतुलित संगठन बनेगा ? कब प्रदेश कार्यकारिणी बनेगी ? कब पार्टी के लिये दिन-रात काम करने वाले मेरे जैसे कर्त्तव्यनिष्ठ कार्यकर्ताओं को कार्यकारिणी में जगह मिलेगी ? नवीनचंद्र पटेल ने संगठन महामंत्री विवेक दाडकर से कहा कि यदि आप प्रदेश संगठन को व्यवस्थित नहीं कर पा रहे है तो मैं कहता हूँ कि आप लोग हमारे जैसे वफादार कार्यकर्ताओं के साथ अन्याय कर रहे हैं। अब हम कार्यकर्ताओं के सब्र का बांध टूटता जा रहा है। यदि हम जैसे समर्पित कार्यकर्ताओं को न्याय नहीं मिला तो हम अदालत का दरवाजा खटखटायेंगे और न्याय मांगेगे। नवीनचंद्र पटेल ने विवेक दाडकर को लिखे इस पत्र की कॉपी को प्रदेश भाजपा प्रभारी रघुनाथ कुलकर्णी को भी भेजी है। भाजपा के समर्पित सिपाही नवीनचंद्र पटेल ने दमण संदेश से टेलीफोनिक बातचीत में कहा कि जब तक हमें न्याय नहीं मिलता हम अपनी लड़ाई जारी रखेंगे। भाजपा आलाकमान को हमारी बात सुननी ही होगी, क्योंकि ये दमन-दीव में भाजपा के अस्तित्व से जुड़ा सवाल है, जिसे अनदेखा करना आत्मघाती और खतरनाक होगा।

“भाजपा की आलाकमान को दमन से एक और चिट्ठी”

  • भाजपा के वरिष्ठ नेता नवीनचंद्र अख्खुभाई पटेल ने प्रदेश संगठन महामंत्री विवेक दाडकर को लिखी चिठ्ठी, पूछा कब बनेगा संतुलित संगठन और कब कार्यकारिणी में भाजपा के वफादार कार्यकर्ताओं को मिलेगी जगह ?
  • प्रदेश भाजपा प्रभारी रघुनाथ कुलकर्णी को भेजे पत्र की कॉपी में नवीनचंद्र पटेल ने कहा कि हम समर्पित कार्यकर्ताओं को न्याय नहीं मिला तो हम कोर्ट में जाकर मांगेंगे इंसाफ।

काँग्रेस के लिये दमन-दीव भाजपा का अंतर्कलह राष्ट्रीय स्तर पर साबित हो सकता है जड़ी बूटी!

ये भी पढ़ें-  दमण-दीव, दादरा नगर हवेली लोक सभा चुनाव 23 अप्रेल को। जाने कहां किस तारीख़ को होंगे चुनाव।

नवीनचंद्र पटेल ने कहा कि दमण में लोग तरह-तरह की बातें कर रहे हैं कि दमण-दीव भाजपा में भी भ्रष्टाचार का खेल चल रहा है। पैसे देकर पदाधिकारियों के पद ख़रीदे जा रहे हैं। पार्टी की साख पर सवाल खड़े हो रहे हैं और पार्टी के जवाबदार लोग कान में तेल डालकर बैठे हैं। छह-छह महीने हो गये लेकिन अब तक निर्विवाद प्रदेश कार्यकारिणी का गठन नहीं किया जा सका है! हम प्रदेश प्रभारी और संगठन महामंत्री की टालमटोल वाली बातों पर भरोसा करके कब तक बैठे रहें ? वक्त का तकाजा है कि असंवैधानिक अध्यक्ष और काँग्रेस से आये भगोडों को संगठन से दूर करके भाजपा के समर्पित, वफादार कार्यकर्ताओं को कार्यकारिणी में जगह देकर विवाद का निपटारा हो और पार्टी के काम को आगे बढ़ाया जाये। नवीनचंद्र पटेल ने आगे कहा कि यदि ये सब नहीं होता है और दलबदलुओं के हाथों में ही दमण-दीव भाजपा की कमान थमाये रखी जाती तथा काँग्रेस से पाला बदलकर आये लोगों को संगठन में बडे पद देकर भाजपा का कांग्रेसीकरण जारी रखा जाता है तो मैं कोर्ट में जाकर न्याय की मांग करूंगा, जिससे मुझे कोई नहीं रोक सकता।

गौरतलब है कि दमण-दीव के इतिहास में पहली बार भाजपा के खिलाफ भाजपा का कार्यकर्ता न्यायालय में जाने की परिस्थिति बनी है। दमण-दीव भाजपा में जारी अंतर्कलह राष्ट्रीय स्तर पर काँग्रेस के लिये जड़ी-बूटी साबित हो सकता है। क्योंकि दमण-दीव लोकसभा सीट भाजपा और कांग्रेस दोनों के लिये महत्वपूर्ण है। भाजपा का राष्ट्रीय आलाकमान दमण-दीव भाजपा संगठन में जारी गतिरोध को दूर करने में कितना सफल होता है ? इस पर सबकी निगाहें लगी हैं।