दमण पुलिस का सराहनीय प्रयास, नाबालिग से रेप एवं हत्या का आरोपी 6 दिन बाद गिरफतार

दमण पुलिस का सराहनीय प्रयास, नाबालिग से रेप एवं हत्या का आरोपी 6 दिन बाद गिरफतार | Kranti Bhaskar
Daman REP & Murder Aaropi

संघ प्रदेश दमण में एक नाबालिग का अपहरण कर उसके साथ घिनौना खेल खेलने के उपरांत भेद खुलने की डर से निर्मम हत्या करने का आरोपी आखिरकार दमण पुलिस के हत्थे चढ़ गया. इस जघन्य कृत्य का जहां चहुंओर आलोचना हो रही है वहीं पर दमण पुलिस द्वारा प्रकरण का पर्दाफांस करने पर पुलिस विभाग की सराहना भी हुई है. इस संदर्भ में दमण पुलिस विभाग की ओर से जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में बताया गया है कि गत 30 अगस्त-2017 को नानी दमण पुलिस स्टेशन में शिकायतकर्ता ने अपनी शिकायत दर्ज करायी कि उसकी 6 वर्षीयां बच्ची जो अरविंदभाई की चॉल में अन्य बच्चों के साथ खेल रही थी तब वह वहां से गुम हो गयी है. इस तरह की शिकायत के आधार पर नानी दमण पुलिस स्टेशन में आई.पी.सी. की धारा 363 के तहत मामला दर्ज किया गया और इस अपराध की आगे की जांच शुरू की गयी.

अपराध की गंभीरता को ध्यान में लेते हुए दमण-दीव, दानह के डीआईजीपी ब्रिजेश कुमार सिंह, एसपी मेघना यादव, एसडीपीओ रविन्द्र कुमार शर्मा के मार्गदर्शन में नानी दमण पुलिस स्टेशन एस.एच.ओ. भरत पुरोहित, कोस्टल पुलिस स्टेशन मोटी दमण के एस.एच.ओ. सोहिल जीवाणी के नेतृत्व में पीएसआई नगिन पटेल, हेडकांस्टेबल कृष्णविजय गोहिल, निलय ठक्कर, विजय मकवाणा, अनिमेष ठक्कर, पुलिस कांस्टेबल सुमित भक्ति, हरेश सोलंकी, स्नेहल सोलंकी, जिग्नेश पटेल, राकेश पटेल, भौतिक बामणिया, केवल पटेल, संदिल सिंह, मौनिक भंडारी, भाविक मिटना, अमित बाजपई एवं वीरू हलपति की टीम बनाकर अलग-अलग दिशा में केस की जांच प्रारंभ की गयी.

ये भी पढ़ें-  मेहनत करे मुर्गा, अण्डा खाए फकीर।

प्रारंभिक तफतीस में लड़की के नजदीकी रिश्तेदार, पड़ोसी एवं आसपास के विस्तार के सीसीटीवी फुटेज चेक किया गया, किन्तु लड़की के बारे में किसी भी प्रकार की कोई जानकारी नहीं मिली. जिसके बाद गत 1 सितम्बर को दमण कोस्टगार्ड एयरपोर्ट के पीछे की झाडिय़ों में से एक अंजान लड़की जिसकी उम्र करीब 7-8 साल जैसी लग रही थी, उसकी शव सड़ी हालत में और बिलकुल पहचान न हो सके वैसी हालत में मिली.

इस शव के बारे में बारिकी से जांच करने पर ऐसा पाया गया कि इस लड़की के साथ दुष्कर्म कर इसे मार दिया गया था और शव को झाडिय़ों में फेंक दिया गया. उसके बाद आसपास के एरिया में स्थित 37 चॉल जिसमें कुल 700 जितने रूम में जांच की गयी. पुलिस टीम द्वारा दिन-रात मेहनत करके करीब 400 से 500 लोगों को शक के आधार पर पूछताछ की गयी. जिस जांच में धनंजय शिवचरण चतुर्वेदी, रहवासी-प्रवीणभाई की चॉल, दलवाड़ा को संदिग्ध पाया गया. इसके बारे में पुलिस जांच में यह भी बात सामने आयी कि आरोपी नशे का आदि भी है और दारू-बियर पीने की आदत वाला है. जांच के दौरान पता चला कि धनंजय का भाई बार-बार पीडि़त लड़की के पिता के पास जाकर लड़की के बारे में पूछ रहा था. जिस वजह से धनंजय पर शक और गहरा होता गया. जिसके बाद पुलिस टीम द्वारा धनंजय को कब्जे में लेकर लगातार, बार-बार पूछताछ की गयी और पूछताछ के दौरान धनंजय ने अपना अपराध कबूल किया. जिसके बाद दमण पुलिस ने 5 सितम्बर को धनंजय को हिरासत में लेकर हवालात में डाल दिया है.

ये भी पढ़ें-  गृह राज्यमंत्री के साथ प्रशासक प्रफुल पटेल ने की दमण-दीव के योजनाओं की समीक्षा

पुलिस पूछताछ के दौरान अपराधी धनंजय चतुर्वेदी ने बताया कि वह मूल रूप से उत्तर प्रदेश के गोरखपुर का रहने वाला है और वह कुंवारा है तथा उसने कक्षा 12वीं तक पढ़ाई की है. हाल में अपने बड़े भाई के साथ प्रवीणभाई की चॉल के रूम नंबर 7, दलवाड़ा दमण में रहता है. वह पिछले दो-तीन महीने से एशियन प्लास्टो बैंड कंपनी में काम करता है. गत 29 अगस्त को गणपति विसर्जन में गया था और वहां पर पीडि़त लड़की को मिला था. जहां पर उसने लड़की को बहला-फुसलाकर वेफर एवं फ्रूटी की लालच देकर दलवाड़ा एरिया के झाड़ी विस्तार में ले गया और वहां पर उसके साथ बलात्कार कर उसे गला दबाकर मार दिया और उसके चेहरे पर हाथों से बार-बार पंच मारकर लड़की की शक्ल खराब कर दी ताकि कोई उस लड़की को पहचान न सके.

इस तरह से दमण पुलिस ने 6 साल की लड़की का अपहरण करके उसके साथ बलात्कार कर जान से मार देने वाले अपराधी को 6 दिन में पकड़कर केस में सफलता प्राप्त की है.