दमन में शराब के थोक विक्रेताओं द्वारा नियमों का थोक में उलंधन…

दमन में शराब के थोक विक्रेताओं द्वारा नियमों का थोक में उलंधन... | Kranti Bhaskar
liquor smuggling

संध प्रदेश दमन आबकारी विभाग द्वारा शराब की थोक बिक्री हेतु जारी लाइसेन्स के संबंध में जो दस्तावेज़ तथा जानकारी क्रांति भास्कर को मिली है उन्हे देखकर लगता है की अब तक दमन आबकारी विभाग द्वारा शराब की थोक बिक्री के लिए लगभग 52 लाइसेन्स ( Wholesale Licences ) जारी किए गए थे।

थोक लाइसेन्स मामले में मार्च 2017 तक मिली जानकारी के अनुसार, अब शराब की थोक बिक्री हेतु ( Wholesale Licences )  लाइसेन्स की कुल संख्या 50 बताई जाती है। लेकिन मामला लाइसेन्स की संख्या का नहीं है, मामला है अनियमितता तथा घोटाले का, मामला है बे-परवाही का और अधिकारियों द्वारा बरती गई नरमी का, मामला है उन लाइसेन्स धारकों पर कार्यवाही नहीं करने का जिनहोने अनियमितता बरती और नियम कानून को ताख पर रखा, मामला है अधिकारियों द्वारा कार्यवाही करने में ढील देने का।

ये भी पढ़ें-  दमण-दीव विधुत विभाग के लाइनमेन परेशान, फ़िर उठी मांग कब होंगे नियमित, 8000 में घर चलना मुश्किल।

Click This Link for Wholesale liquor Licences List Name and Licences Number.

https://drive.google.com/open?id=0BwICkJC_mmlXcWo3OWxpa1RzUHBTams2RzlIR1pWYXBlcFFV

https://drive.google.com/open?id=0BwICkJC_mmlXUUFua0NNeUxTOEZtTzZuRnFvZ1haeTFOa2M4

https://drive.google.com/open?id=0BwICkJC_mmlXWGlxVGtPVHU2Zm9HWXJmMEZvc2tsSV9rLWRn

अब तक कई बार, दमन से गुजरात में शराब तस्करी के मामलों के चलते तथा दमन के शराब तस्करो की करतूतों के चलते दमन की छवी धूमिल होती नजर आई, इसके अलावे कई बार दमन से गुजरात में अवैध तरीके से शराब की तस्करी को लेकर भी कई बार दमन प्रशासन पर सवाल खड़े होते रहे है। लेकिन किसे पता था की कभी आबकारी विभाग एवं विभागीय अधिकारियों द्वारा बरती गई अनियमितता तथा ढील की वजह से भी दमन प्रशासन पर सवाल खड़े होंगे।

इस बार क्रांति भास्कर के सामने एक ऐसा मामला है जिसे देखकर लगता है की दमन आबकारी विभाग निंद्रा में है और आबकारी विभाग के अधिकारी घोर-निंद्रा में, दमन आबकारी विभाग द्वारा, शराब की थोक बिक्री हेतु, जारी किए 50 लाइसेन्स ( Wholesale Licences ) से संबन्धित जो जानकारी तथा दस्तावेज़ क्रांति भास्कर को मिले है उन्हे देखकर आबकारी विभाग के अधिकारियों के साथ साथ कई लाइसेन्स धारकों की भी पोल खुलती नजर आ रही है। प्राप्त दस्तावेजों को देखकर यह साफ़ पता चलता है की दमन आबकारी विभाग द्वारा बनाए गए कई नियमों की अनदेखी हुई है और उक्त विभाग एवं विभागीय अधिकारियों द्वारा मामले में कार्यवाही करने पर भारी ढील दी गई है। शराब की थोक बिक्री और नियमों का थोक उलंधन…. शेष फिर।