देवांग शाह को भ्रष्टाचार करने के लिए मिला चौथा मौका…

भ्रष्टाचार के तीन मामलों में निलंबित होने के बाद अब पुनः नियुक्ति!

दानह प्रशासन पर भ्रष्टाचार व भ्रष्टारियों को संरक्षण देने के आरोप तो लगते रहे है, लेकिन इस बार मामला भ्रष्ट अधिकरियों में पुनः भ्रष्टाचार करने का मौका देना के संबंध में है।
बताया जाता है की पूर्व में दानह नगर निगम के जिस अभियंता देवांग शाह को सीबीआई ने भ्रष्टाचार के मामले में पकड़ा और जिस अभियंता को प्रशासन ने निलंबित किया उसी अभियंता को अब प्रशासन पुनः पदासीन करने का मन बना चुकी है। बताया जाता है की इस अभियंता के बारे में भ्रष्टाचार का यह पहला मामला नहीं था इसके अतिरिक्त भी उक्त अभियंता पर भ्रष्टाचार के कई मामले चल रहे है, बताया जाता है की उक्त अभियंता को भ्रष्टाचार के मामले में केंद्रीय सतर्कता आयोग द्वारा मेजर-पेनल्टी की चार्जशीट दे रखी है और एक 11 करोड़ का मामला दानह आर-डी-सी में लंबित है।
लेकिन इतने मामलों के बाद भी दानह प्रशासन न जाने किस मनसूबे को पूरा करने के लिए उक्त अभियंता को पुनः पदासीन करने वाली है? संध प्रदेश दानह की जनता में इस मामले को लेकर तरह तरह के सवाल प्रशासक की कार्यशेली पर तो उठ ही रहे है उसी के साथ यह भी सवाल उठ रहे है की यह अभियंता अब और कितनी लूट-खसोट करेंगे?
इस पूरे मामले में अगर जनता की माने तो प्रशासन या प्रशासक का यह फ़ैसला, भ्रष्टाचार के आरोपो में धीरे अधिकारी को पुनः भ्रष्टाचार करने का अवसर देने के बराबर है, इसके आलवे अब संध प्रदेश दानह में जनता के मन में यह भी सवाल है की क्या इस अभियंता की पुनः नियुक्ति में भी किसी प्रकार की लेन-देन अथवा भ्रष्टाचार हुआ है? क्यों की इतिहास गवाह सरकारी काम काज की फितरत और अधिकारियों की नियत इन दोनों को लेकर इतनी मिशाले है की इस मामले में अन्य कोई मिशाल देने की आवश्यकता ही नहीं!

ये भी पढ़ें-  स्कूली बच्चो के वीडियो से खुली, आबकारी विभाग के निरीक्षक मिहिर जैसे माहिर खिलाड़ी की पोल!

विशेष राज्य का असली मजा तो भ्रष्ट अधिकारी उठा रहे है!