दीव के अधिकारी को दमन हेडक्वाटर। यह महेरबानी भी देबेन्द्र दलाई की।

PCC Daman Administration
Administration Daman and Diu

दीव : वन संरक्षक देबेन्द्र दलाई, यह अधिकारी तो वन विभाग के है लेकिन उसके बाद भी प्रशासन ने इन्हे इतने विभागों का कार्यभार दे रखा है कि इन्हे शायद पता ही नहीं कि वन विभाग में क्या हो रहा है, इसके बाद वन संरक्षक के दाहिने हाथ बताए जाते है दीव के वन अधिकारी गायकवाड, लेकिन यह वन संरक्षक देबेन्द्र दलाई कि मेहरबानी है जो दीव के वन अधिकारी को दमन हेडक्वाटर दिला दिया, चाहे फिर वन अधिकारी गायकवाड को दमन हेडक्वाटर दिलाने के लिए वन संरक्षक देबेन्द्र दलाई ने अपने अनेक विभागों में से एक विभाग का अतिरिक्त प्रभार ही क्यों ना देना पड़ा हो लेकिन हुआ तो यही, अब वन अधिकारी गायकवाड दीव का विकास दमन हेडक्वाटर से ठीक ऐसे ही करते है जैसे कभी बीरबल ने दूर पेड़ पर तपेला रख खिचड़ी पकाई थी।

दीव के अधिकारी कर रहे है दमन से दीव का विकास!

इतना ही नहीं बताया जाता है कि दीव के उप वन संरक्षक भी दीव का विकास दमन में बैठकर कर रहे है, और ऐसा क्यों ना करें जब प्रशासक दमन में या दनाह में रहकर दीव का विकास कर सकते है तो इनहोने भी अपने आप को प्रशासक समझ लिया होगा ? लेकिन इस सब के पीछे है तो देबेन्द्र दलाई कि मेहरबानी।

ये भी पढ़ें-  इस बार किस पार्टी से चुनाव लड़ेंगे, और अगर जीते तो किसे समर्थन देंगे?

फोटो- देबेन्द्र दलाई