शोशल मीडिया पर विकास गाथा वायरल, कितना हुआ भ्रष्टाचार यह कोन बताएगा?

Natu Patel Silvassa
Natu Patel Silvassa

शोशल मीडिया पर दानह सांसद नटूभाई पटेल द्वारा करवाए गए विकास कार्यों की एक सूची वायरल हो रही है। फेसबुक पर जय तिवारी के नाम के व्यक्ति द्वारा एक पोस्ट डाली गई इस पोस्ट कि सूची में ऐसे कई विकास कार्य बताए गए है जो सांसद नट्टू पटेल के कार्यकाल में हुए। फेसबुक पर जय तिवारी ने केवल विकास कार्यों की सूची डाली है विकास कार्य में भ्रष्टाचार हुआ या नहीं इस पर कोई चर्चा या सवाल नहीं है। लेकिन अब उक्त सूची में जिन विकास कार्यों का जिक्र किया गया है उन विकास कार्यों पर जनता द्वारा पूछे जाने आम सवालो पर भी एक नज़र।

आजकल कुछ विपक्षी लोग पुछते है कि भाजपा और सांसद नटूभाई ने 9 वार्षों मे क्या किया? जय तिवारी नाम के एक व्यक्ति ने फेसबुक पर आज एक पोस्ट डाली है जिसमे उसने सांसद की तारीफ़ करते हुए कई विकास कार्यों की लिस्ट जारी की है? उक्त पोस्ट में विकास कार्यों की जो सूची दी गई है उस सूची के साथ कुछ सवाल है यदि सांसद महोदय को समय हो तो उक्त सवालो का जवाब भी जनता को दे दे।

  1. आपत्कालिन स्थिती मे इलाज के लिए वाहन ना होने के वजह से गांव के कई परिवार के सदस्य की म्रूत्यू हो जाती थी संसद जी के दिये हुए एंबुलेंस से आज हजारों ज़िन्दगियां बच रही है? उक्त एंबुलेंस के नाम पर एंबुलेंस की मरम्मत के लिए कितने फर्जी बील पास हुए? कितना डीज़ल भरवाया और कितना चोरी किया गया? कितने डीज़ल के फर्जी बील बनवाए गए?
  2. प्रदेश के गरीब परिवार जो आपने बचो को पढाने मे असमर्थ थे ऊँन बचो के लिए सरकारी कॉलेज पास कार्वाय़ा? इस सरकारी कॉलेज के निर्माण में कितना भ्रष्टाचार हुआ? ठेकदार से कितना कमीशन वसूला गया?
  3. गांव मे आज 90% घरों से रोड तक पेवोर ब्लॉक लग चुकी है? उक्त पेवोर ब्लॉक में कितने करोड़ का घोटाला हुआ? ठेकदार से कितने प्रतिशत कमीशन की वसूली हुई?
ये भी पढ़ें-  जिला पंचायत के विकास कार्यों में कमीशनखोरी धड्ड्ले से। दमन जिला पंचायत में करोड़ों का भ्रष्टाचार।

 

  1. प्रदेश के दिव्यांग जन जीनको दूसरो पर आश्रीत होना पड़ता था आज़ हर दिव्यांग जन के पास खुदका स्कुटर है।

 

  1. हजारों की संख्या मे गरीब लोगो के लिए आवास बनवा दिये गए है? उन आवासो में भ्रष्टाचार हुआ या नहीं ठेकदारों में और अधिकारियों ने मिल बाँट कर खाया या नहीं? कितने करोड़ का काम था और कितने करोड़ का ठेका दिया गया?

 

  1. गांव की माँता एवं बेहने खुले मे सौच जाने को मजबुर थी लेकिन आज हर घर सौचालाय बनाए गए? एक सोचलाय के पीछे कितने का कमीशन वसूला गया? कुल कितने सोचलाय बनाए गए और कुल कितना कमीशन वसूला गया?

 

  1. आज व्रुधा एवं विधवा पेंसन का लाभ हजारों की संख्या मे लाभारती है।
  2. मेडीक्ल कोलेज जो की प्रदेश का सपना था आज वो पूरा हो चुका है। इसमे भ्रष्टाचार होगा या नहीं? अधिकारी कमीशन खाएँगे या नहीं?
  3. नक्ष्त्रवन रीवरफर्न्ट जो की प्रदेश की सोंदर्य को देखने आज दुसरे राजयो लोग छुट्टियों आनन्द उठाने आते है। उन्हे क्या पता इस नक्षत्र वन के विकास में कितने करोड़ का भ्रष्टाचार हो चुका है?

 

  1. कई आकरशक पुलों का निरमान हुआ? अधिकारियों ने उन पुलो में कितने करोड़ की चाँदी कांटी? कितना कमीशन लिया?

 

  1. नागारपलिका भवन से लेकर सुन्दर विध्यूत विभाग प्रदेश का आकर्शन बढ़ा रहे है। लेकिन उक्त दोनों कार्यालय के निर्माण में कितने करोड़ का भ्रष्टाचार हुआ है? कार्यालय बनने के बाद अब तक उक्त कार्यालय के अधिकारियों ने कितने करोड़ की काली कमाई की?
ये भी पढ़ें-  श्रीमद् भागवत कथा में शरीक हुए प्रशासक प्रफुल पटेल

 

  1. प्रदेश के कई स्कूलों का नवनिकर्ण किया गया एवं कई छात्रालय का निरमान हुआ? जिन स्कूलो का नवीनीकरण हुआ उनमे कितनी अनियमितता हुई ठेकदारों को कितने में ठेका दिया? ठेकेदारो ने कितना कमाया और अधिकारियों ने कितना कमाया?
  2. पेयजल योजना
  3. अंडर ग्राओंड गैस सपलाय जो की पास हो चुका है
  4. सरकारी स्पोर्ट क्लब
  5. ईनटरनेसनल स्टेडीयम
  6. आज सिलवासा गंदकी मुक्त होने जा रहा है घर घर क्चरा उठाया जा रहा। लगता है यहां किसी और दादरा नगर हवेली की बात हो रही है।

 

  1. एस.सी.एल जेसे बड़े रात्रि खेल संसद जी द्वारा लगवाय गए लाईट्स के कारन अरांभ हुआ।
    सिलवासा स्मार्ट सीटी की सूची मे शामील हुआ। बनेगा कब?

 

  1. वैसे तो आज आयूषमान योजना है लेकिन प्रदेश मे पेहले ही संसद जी संजीवानी बीमा के लाभ से कई ज़िन्दगी बच गये है।

 

  1. रींगरोड बनकर तेयार हो चला। रिंग रोड बनाने का ठेका किस कंपनी को मिला? कितने करोड़ में मिला? कितने करोड़ का कम हुआ? कितने करोड़ जेब में गए?

Silvassa natu patel

शोशल मीडिया पर जिन विकास कार्यों की चर्चा हो रही है वह काफी सराहनीय है, बस जिस ईमानदारी से विकास कार्यों की सूची बनाई गई उसी ईमानदारी के साथ सांसद इन विकास कार्यों पर पूछे गए सवालो के जवाब के साथ साथ इन सभी विकास कार्यों की एक बार सीबीआई से निष्पक्ष जांच भी करवा दे तो, दूध का दूध पानी का पानी हो जाएगा।