जिला पंचायत के विकास कार्यों में कमीशनखोरी धड्ड्ले से। दमन जिला पंचायत में करोड़ों का भ्रष्टाचार।

Kranti Bhaskar - Daman News, Silvassa News, Vapi News and Valsad News | दमण-दीव के मेडिकल सीटों में बढ़ोतरी की मांग

अभियंता समेत केतन पटेल की भूमिका शंका के दायरे में।
दमन जिला पंचायत में किए गए विकास कार्यों में करोड़ों का भ्रष्टाचार, सड़कों तथा अन्य विकास कार्यों में ठेकेदारों के साथ हिस्से तह, खराब काम करवाकर कमीशन खोरी धड्ड्ले से, जिला पंचायत अध्यक्ष केतन पटेल तथा अभियंता की सनलिपप्ता की चर्चा, आम जनों में जांच की मांग।

संध प्रदेश दमन अब तक अपने पूर्ण विकास की राह देख रहा है, और यहां के नेता अपनी राजनीतिक रोटिया सेखने के लिए, विकास निधि का दुरुपयोग कर रहे है। यहां विकास के नाम पर ठेकेदारों को काम तो दिया जाता है, लेकिन उक्त विकास कार्यों में अपना हिस्सा रख उक्त कार्य और दमन के विकासीय मॉडल का बेड़ा गर्क कर रहे है। बात विकास और पंचायत करे तो उक्त मामले में ग्राम पंचायत और जिला पंचायत सबसे आगे देखी गई, सड़कों के नाम पर जीतने बड़े खड्डे है उनसे भी बड़े यहां बिल दिखाई देते है, आम जनता वर्ष में कुछ माह विकास और खड्डो की भरपाई में गुजार देती है तो कुछ माह खराब काम को कोसने में, आलम यह रहा की विकास की बात और बिलों की रकम में कभी कमी नहीं आई, बस विकासीय कार्यों में कमी खलने लगी।

ये भी पढ़ें-  सरकारी काम-काज की जानकारियों को पिछले 10 वर्षों में वेबसाइट पर नहीं डाल पाई संध प्रदेश प्रशासन।

बताया जाता है यहां की सड़कों के विकास तथा मरम्मत कार्यों की जांच करना तो शायद जांच एजेंसियों को भी नाको तले चने चबाने जैसा होगा। यहां सड़कों के नवीनीकरण तथा मरम्मत के कार्यों में अनियमिताओं के साथ साथ भ्रमितता भी देखी गई, भ्रमितता भी एसी मानों ठेकेदार को ठेका दिया ही इस आशा पर के घोटाला पकड़ना मुमीन न हो ।
यहां सड़कों की मरम्मत तथा नवीनीकरण सड़कों तथा सड़कों के लिस्ट की लिस्ट के अलावे, ठेका एक मकान दे दूसरे मकान तथा पुनः दूसरे मकान से पहले मकान खत्म होता देखा गया, उक्त मामले में सड़कों के विकास कार्यों को लेकर क्रांति भास्कर ने सूचना के अधिकार के तहत जिला पंचायत में एक आवेदन कर विकास तथा सड़कों के नवीनीकरण से संबन्धित जांकारिया हासिल कि, तथा उक्त प्राप्त जांकारियों को देख लगता है, दमन जिला पंचायत के अभियंता तथा जिला पंचायत के अध्यक्ष दोनों ही जिला पक्न्हायत में विकास के नाम पर चल रही इस लूट अनभिज्ञ नहीं है, नहीं विकास कार्यों में कमिसन खोरी से अनभिज्ञ बताए जाते है।
सड़कों तथा सड़कों से जुड़े विकास कार्यों को लेकर चल रही चर्चा, भ्रष्टाचार, तथा कमीशन खोरी को लेकर प्रशासक महोदय को चाहिए कि दमन जिला पंचायत द्वारा करवाए गए विकास कार्यों तथा उक्त कार्यों से संबन्धित अधिकारियों की जांच किसी जांच एजेंसी से करवाए।
वैसे भी उक्त मामले में दमन सतर्कता विभाग के अधीक्षक श्री धीरुभाई टण्डेल ने, दमन जिला पंचायत में हो रहे करोड़ों के भ्रष्टाचार, कमीशन खोरी और गमन की पोल पहले ही खोल दी थी, हालांकि उक्त मामले में धीरुभाई से संबन्धित एक टेप क्रांति भास्कर ने अपने वेबसाइट पर भी अपलोड किया तथा उक्त खबर को भी प्रमुखता से प्रकाशित किया, लेकिन प्रशासन द्वारा उक्त मामले किसी प्रकार के संज्ञान नहीं लेने से केवल निराशा ही हाथ लगी। हालांकि फिलवक्त उक्त मामले में जांच की मांग को लेकर तथा विकास कार्यों में विकास निधि के दुरुपयोग तथा खराब कार्यों को लेकर, दमन के सांसद श्री लालू पटेल को आगे आने की जरूरत है।
शेष फिर।