गोपाल टंडेल के बेटे ने की दमण न्यायालय के साथ धोखा-धड़ी।

Hemraj Tandel Gopal Tandel
Hemraj Tandel Gopal Tandel

इन दिनों दमण-दीव भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के पुत्र द्वारा अपने कर्मचारी को पीटने का मामला चर्चा का विषय बना हुआ है। इस मामले में न्यायालय ने उसे ज़मानत भी दे दी है। समाचार को आगे बढ़ाने से पहले संक्षेप्त में पाठको को कुछ जानकारी दे दे ताकि उन्हे मामला समझने में आसानी हो।

इस पूरे मामले की शुरुआत 26 फरवरी से शुरू होती है। जब दमण में स्थित होटल सी व्यू में ठहरे एक पर्यटक का सामान चोरी हुआ, इसका शक होटल मालिक को अपने कर्मचारियों पर हुआ, पूछताछ के दौरान दमण-दीव भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के पुत्र हेमराज टंडेल ने, होटल के एक कुक मुकेश के साथ मारपीट की और उसे करंट लगाया।

इसके बाद उसे मरवड़ अस्पताल में भर्ती करवाया गया, पुलिस में मामला दर्ज़ होने के बाद कई दिनों तक हेमराज़ टंडेल इधर-उधर भागता रहा। 26 अप्रेल को पुलिस ने उसे गिरफतार कर न्यायालय में पेश किया, जहां उसे 4 दिन की पुलिस रिमांड मिली। 30 अप्रेल को पुलिस ने वापस उसे कोर्ट में पेश किया और रिमांड मांगी, लेकिन कोर्ट ने 14 मई तक के लिए हेमराज़ टंडेल को न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

ये भी पढ़ें-  भाजपा नेताओं के दिखावे के दांत : केतन पटेल 

अब इस पूरे मामले से संबन्धित, हेमराज़ टंडेल द्वारा दमण न्यायालय में पेश की गई एक अग्रिम जमानत याचिका, क्रांति भास्कर के हाथ लगी है, याचिका में हेमराज़ टंडेल द्वारा दी गई जानकारी काफी चौकाने वाली है।

आपने अब तक नेताओं को जनता से झूठ बोलते देखा होगा, जनता को धोखा देते हुए देखा होगा, जनता को गुमराह करते हुए भी देखा होगा। लेकिन क्या आपने कभी किसी नेता पुत्र को न्यायालय से झूठ बोलते हुए देखा है? न्यायालय को गुमराह करते हुए तथा न्यायालय के साथ धोखा-धड़ी करते हुए देखा है? सवाल झंझोर देने वाला है क्यो की मामला आम जनता से झूठ बोलने या आम जनता से धोखा-धड़ी करने का नहीं, बल्कि उस न्यायालय से झूठ बोलने और धोखा-धड़ी करने का है जहां सच के सिवा कुछ नहीं चलता। लेकिन क्रांति भास्कर को मिले दस्तावेज़ यही कहते है की इस बार जनता नहीं बल्कि न्यायालय झूठ का शिकार हो गई है!

Gopal Tandel 6

Gopal Tandel 5

Gopal Tandel 4

Gopal Tandel 3

Gopal Tandel 2

Gopal Tandel 1

क्रांति भास्कर की टीम के हाथ, दमण-दीव भाजपा प्रमुख गोपाल टंडेल के पुत्र हेमराज़ गोपाल टंडेल की जो अग्रिम जमानत याचिका हाथ लगी है, उक्त अग्रिम जमानत याचिका में हेमराज़ टंडेल ने दमण न्यायालय को बताया की वह होटल सी व्यू के मालिक का पुत्र है, जबकि असलियत कुछ और ही है, हेमराज़ टंडेल ने अपने आप को होटल सी व्यू के मालिक का बेटा तो बता दिया लेकिन यह नहीं बताया की होटल सी व्यू का मालिक कौन है? यदि आप यह सोच रहे है की होटल सी व्यू का मालिक गोपाल टंडेल है तो यह सरासर झूठ है। होटल सी व्यू का मालिक गोपाल टंडेल नहीं है। लेकिन हेमराज़ टंडेल ने न्यायालय में अपने आप को होटल सी व्यू के मालिक का बेटा बताया है। अब इस झूठ को दमण न्यायालय किस नज़र से देखती है तथा हेमराज़ टंडेल पर क्या कार्यवाही करती है यह तो न्यायालय पर निर्भर करता है। लेकिन दस्तावेज़ कहते है की न्यायालय में गलत जानकारी दी गई, इस लिए इस मामले को न्यायालय के साथ धोखा-धड़ी करने वाला मामला कहा जा सकता है। वैसे अब इस पूरे मामले में दमण न्यायालय के न्यायधीश को चाहिए की वे मामले की जांच करें और स्वत संज्ञान लेकर इस मामले में न्यायालय के साथ हुई धोखा-धड़ी पर कठोर से कठोर कार्यवाही करें।