दमन में SC – ST भाजपा कार्यकर्ताओं की अनदेखी : नगीन कबीरिया।    

Daman-Gopal-Tendel-03
Daman-Gopal-Tendel-03

इसे भाजपा अध्यक्ष गोपाल दादा की दादागिरी कहे या मनमानी ?

प्रदेश भाजपा के समर्पित सिपाही एवं अनुसूचित जाति / जनजाति मोर्चा के वरिष्ठ भाजपा कार्यकर्ता नगीन कबीरिया ने दमन-दीव भाजपा अध्यक्ष गोपाल दादा पर SC ,ST कार्यकर्ताओं की अनदेखी (अवगणना) करने का आरोप लगाया।

अनुसूचित जाति, जनजाति कार्यकर्ताओं की अनदेखी करने पर जताया रोष!

दमन : भाजपा अध्यक्ष गोपाल दादा की मुश्किलें हैं कि कम होने का नाम ही नहीं ले रही हैं। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष गोपाल दादा की मनमानी कहे या दादागिरी जिसके चलते भाजपा के वरिष्ठ कार्यकर्ताओं रोज किसी न किसी समस्या एवं मामले को आलाकमान को इनके कारगुजारियों की फेहरिस्त देनी पड़ रही हैं।

ये भी पढ़ें-  भ्रष्टाचार, अवैध वसूली, कामचोरी, अनियमितता, कुर्सी का दुरुपयोग, और चापलूसी में अव्वलता...

वरिष्ठ नेता नवीनचंद्र अख्खुभाई पटेल एवं बालूभाई पटेल ने पहले ही प्रदेश भाजपा अध्यक्ष के पद पर गोपाल दादा की नियुक्ति को पार्टी संविधान के अनुसार असंवैधानिक बताकर मुहिम चला रखी है। लेकिन अब भाजपा अनुसूचित जाति और जन जाति मोर्चा के वरिष्ठ भाजपा कार्यकर्ता नगीन कबीरिया द्वारा प्रदेश अध्यक्ष गोपाल दादा को एक पत्र लिखकर अपने समाज एवं जाति के कार्यकर्ताओं की हो रही अनदेखी पर भारी नाराजगी व्यक्त कर इस बात को साफ कर दिया की गोपाल टंडेल को भाजपा के कार्यकर्ताओं के माथे पर थोपा गया नाकी भाजपाई नेताओं ने गोपाल टंडेल को अपना अध्यक्ष चुना। बताया जाता है की इस पत्र की कॉपी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह तथा प्रदेश प्रभारी रघुनाथ कुलकर्णी को भेजते हुए लिखा है कि जब से गोपाल दादा दमन-दीव भाजपा के अध्यक्ष बने हैं तब से हमारी माइनोरिटी कौम की अनदेखी हो रही है। प्रोटोकॉल के मुताबिक भाजपा के एस-सी, एस-टी के वरिष्ठ कार्यकर्ता को मंच पर नहीं बैठाकर इस समाज की अनदेखी की जा रही है, जिसका हमें बहुत दुःख है। उन्होंने चेताया है कि आगे से भविष्य में ऐसी अनदेखी नहीं होनी चाहिये। मालुम है कि जब से गोपाल दादा को भाजपा अध्यक्ष बनाया गया है तब से जमीन से जुड़े समर्पित कार्यकर्ताओं की नाराजगी सामने आ रही है। कुल मिलाकर देखा जाये तो दमन-दीव में एस-सी, एस-टी वर्ग के मतदाताओं की संख्या करीब 25,000 से 30,000 तक है। ऐसे में प्रदेश भाजपा अध्यक्ष इसी तरह से अपनी चलाते रहे और एस-सी,एस-टी वर्ग की अनदेखी करते रहे तो 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा की हार निश्चित है।

ये भी पढ़ें-  अब दानह में होगा प्लास्टिक विरोधी अभिया, मनमानी करने पर, प्रतिदिन प्रति उल्लंघन 100 रूपये वसूला जाएगा।