कई राज्यों के वेट विभाग दानह में खोज रहे है फर्जी कंपनियां।

Silvassa Vat News
Silvassa Vat News
  • दानह की फर्जी कंपनियों ने कई राज्यों के वेट विभागों को लगाया चुना।फर्जी कंपनियां, फर्जी पंजीकरण, फर्जी दस्तावेज, फर्जी बिल, फर्जी सी-फार्म, और अब कंपनियों के पते भी निकल रहे है फर्जी, कब जागेगी दानह प्रशासन।
  • संध प्रदेश दानह में फर्जी कंपनियों का जमावड़ा। 
  • करोड़ों के टैक्स की चोरी।
  • कई कंपनियां अपने पते से गायब, फर्जी पता दर्ज करा कर करवाया पंजीकरण।

प्रशासक महोदय, दानह पर नहीं तो कम से कम इस देश की तिजोरी के बारे में सोचिए, जिसे कुछ अधिकारी लूटने दे रहे है, तो कुछ लूट में अपना हिस्सा ले रहे है।

संध प्रदेश दानह के वेट विभाग व यहां हो रही टैक्स चोरी को लेकर क्रांति भास्कर ने कई खबरे प्रकाशित की, लेकिन नहीं दानह प्रशासन की नींद खुली नहीं वेट विभाग के अधिकारियों की। अब पता चला है की दानह में कई कंपनियां ऐसी है जिन्होने केवल टैक्स बेनीफिट हेतु यहां पंजीकरण करवा लिया तथा पंजीकरण के बाद यहां से लापता हो गई, लेकिन उक्त कंपनियों ने दानह में पंजीकरण कारवाई कंपनी का उपयोग करना नहीं छोड़ा, दानह से लापता होने के बाद भी वह कंपनियां दानह में पंजीकृत कंपनियों के नाम से बिल बनाकर दानह वेट विभाग को चुना लगाए जा रही है।

ये भी पढ़ें-  दानह कांग्रेस ने अपना चुनावी घोषणा-पत्र जारी किया

बताया जाता है कि दानह वेट विभाग में जिन कंपनियों का पंजीकरण हुआ है उन कंपनियों मे से काइयों की जाँच तो अन्य राज्यों के वेट विभाग कर रही है, तथा दानह की उन कंपनियों की तलाश कर रही है। कई राज्यों के वेट अधिकारी इस मसले में यहां उन कंपनियों की तलाश करने भी आए व दानह वेट विभाग में उन कंपनियों के दस्तावेजों की जाँच करने भी आए, दानह वेट विभाग में कंपनियों के दस्तावेज तो मिले, लेकिन कंपनिया गायब है। इनमे से कई कंपनियों के पते पर अन्य राज्यों से आए वेट अधिकारी व दानह के वेट अधिकारी जब उक्त मामले की तलाश के लिए गए तब उक्त मामले का खुलासा हुआ।

ये भी पढ़ें-  डहया, केतन और जिगगु, के रेकेट का पर्दा-फ़ास!

हालांकि दानह में वेट विभाग के अधिकारी पी-एस जानी से क्रांति भास्कर टीम द्वारा इस मामले में बात की गई, लेकिन उन्होने अधिकारियों व कर्मचारियों की कमी का हवाला देते हुए अपना पल्ला झाड़ दिया। जबकि आलम है कि यहां टैक्स चोरी को पकड़ने वाली टीम तक का गठन सालों में नहीं किया गया, कारण अधिकारियों की कमी और इस कमी को कायम रखा यहां की प्रशासन ने, नतीजा निकाला जाली व फर्जी कंपनियों का जमावड़ा।
दानह वेट विभाग के आयुक्त संदीप कुमार को चाहिए की दानह वेट विभाग में जल्द अधिकारियों की भर्ती करे, व टैक्स चोरी को रोकने व टैक्स चोरो पर सिकंजा कसने हेतु एक टीम का गठन करे, कब तक सब राम भरोसे चलाया जाएगा, और हवाला दिया जाएगा की अधिकारी नहीं है, भला सभी जानते है चोकीदार नहीं है तो चोरी होगी, या तो चोकीदार समय पर रखे या सफेदपोश चोरो को पकड़े।