दमण-दीव लोकसभा के लिए निर्दलीय नामांकन कर, भाजपा और कांग्रेस पर बरसे उमेश पटेल।

Umesh babubhai Patel
Umesh babubhai Patel

संध प्रदेश दमन में, 30 मार्च को दमण के सैकडों युवाओं के साथ उमेश पटेल ने निर्दलीय उम्मीदवार के रुप में जिला निर्वाचन अधिकारी संदीप कुमार के सामने लोक सभा चुनाव के लिए अपना नामांकन पत्र जमा कर दिया है। जिला निर्वाचन अधिकारी संदीप कुमार के सामने अपना नामांकन पत्र जमा करने के बाद उमेश पटेल ने पत्रकारों के साथ बातचीत में कहा कि उन्होंने इस लिए निर्दलीय के रुप में चुनाव उड़ने का फैसला किया है क्यो की वह किसी पार्टी अथवा पक्ष के दबाव में नहीं आना चाहते, उनका लक्ष्य केवल दमन-दीव का विकास करना है, इसी के साथ उमेश पटेल ने कहा की केन्द्र में चाहे किसी की भी सरकार बने, मैं यहां से जीतकर उस सरकार में अपना समर्थन दूंगा और संध प्रदेश दमण-दीव का विकास करुंगा। नामांकन दाखिल करने के बाद उमेश पटेल ने भाजपा और कांग्रेस दोनों राष्ट्रीय पार्टियों पर जमकर हमला भी बोला।

  • चुनाव जीतने दो प्रशासन को मेरे ऑफिस के बाहर लाइन में खड़ा करूंगा: उमेश पटेल
  • केंद्र में किसी की भी सरकार बने मेरा समर्थन रहेगा: उमेश पटेल
  • मेरी एन-जी-ओ और स्कूल पर, प्रशासन ने कई प्रहार किए: उमेश पटेल
  • भाजपा और कॉंग्रेस दोनों को साफ़ कर दूंगा: उमेश पटेल
  • भाजपा और कांग्रेस ने मिलकर दमण-दीव का सत्यानाश किया: उमेश पटेल
  • चुनाव जीता तो सबसे पहले एसम्बली की मांग करूंगा: उमेश पटेल
ये भी पढ़ें-  ऐसा रहा तो जल्द सूखा पटेल करेंगे सांसद की टिकट पर अपना दावा...

उमेश पटेल ने कहा की दमण-दीव की जनता भाजपा और कांग्रेस दोनों से भलीभाँति वाक़िफ़ है, आज सत्ता पक्ष और विपक्ष दोनों गुटने पर बैठा है इस लिए मे चुनाव लड़ रहा हु। उमेश पटेल ने कहा की भाजपा सांसद लालू पटेल के कार्यकाल में जनता के घर टूटे तो वही डहया पटेल के कार्यकाल में लोगो की हड्डीया टूटी। डहया पटेल के 10 साल के कार्यकाल पर उमेश पटेल ने कांग्रेस पर सीधा हमला करते हुए कहा की डहया पटेल जब सांसद थे तब लोगो की हड्डियाँ टूटी, लोगो को मरवाया, हफ़्ता वसूली, ट्रांसफर पोस्टिंग में भ्रष्टाचार, लोगो की जमीनो पर कब्जे से परेशान होकर लोगो ने हज़ारो वोट से डहया पटेल को हराया और भाजपा से लालू पटेल को सांसद बनाया। दमण-दीव की जनता ने भाजपा का शासन भी देखा और कांग्रेस का शासन भी, उमेश पटेल ने कहा की भाजपा और कांग्रेस ने मिलकर दमण-दीव का सत्यानाश किया, अब मे विकास करूंगा, चुनाव जीता तो दमण में हफ़्ता-खोरी, माफ़ीयागिरी बंद करवाऊँगा, दमण के दाबेल और कच्चीगांव में सबसे अधिक हफ़्ता-खोरी होती है, चुनाव जीता तो ना हफ़्ता लूँगा, ना लेने दूंगा।

ये भी पढ़ें-  दमण-दीव में कांगे्रसियों ने मनायी राजीव गांधी की जयंती

नेताओं के बाद पुलिस प्रशासन पर भी बरसे उमेश पटेल।

प्रशासन और पुलिस पर तीखा प्रहार करते हुए, उमेश पटेल ने कहा की लगता है दमण में न्याय व्यवस्था मात्र उमेश पटेल के लिए है दाबेल में दिन दहाड़े डबल मर्डर हुआ, हत्यारे हत्या कर, फ़रार हो गए, दमण की जेल में बन्दूक पहुँच गई और दमण पुलिस प्रशासन मात्र काले काच और हेलमेट वालो के पीछे लगी दिखाई दी।

ये भी पढ़ें-  संकलित जल व्यवस्थापन योजना का प्रशासक ने किया शिलान्यास

पी-एस-एल की जमीन और सचिवालय में करोड़पति के बंगले पर भी किए सवाल।

उमेश पटेल ने कहा की दमण प्रशासन द्वारा पुर्तगालियों के समय की खेती करने वालो की जमीन छिनली गई, ग़रीबों के काठा विस्तार पर ग़रीबों के घर और मकान तोड़ दिए गए, लोगो को बेघर कर दिया, इस पर उमेश पटेल ने सवाल किया की जब ग़रीबों की जमीन छिनली गई तो, पी-एस-एल कंपनी को दी गई ज़मीन वापस क्यो नहीं ली जाती? इशारे इशारे में उमेश पटेल कहा की सचिवालय के पास भी एक करोड़पति का बगला है उस बंगले के बारे में जनता में चर्चा है की उस बंगले को तोड़ने के लिए सुप्रीम कोर्ट तक चुका है उसको क्यो नहीं तोड़ा जाता? उक्त सभी मुद्दो और मामलो पर बात करने के साथ, भाजपा और कांग्रेस दोनों को एक साथ कटगहरे में खड़ा कर उमेश पटेल ने बता दिया निर्दलीय उम्मीदवारी किसे कहते है।