दमण में गरीबों के लिए तत्काल निशुल्क सारथी बस सेवा शुरू करने कि जरूरत।

14

दमण। संघ प्रदेश दमण के अलग अलग क्षेत्रों से गरीब श्रमिक कभी श्रम विभाग तो कभी समाहर्तालय कार्यालय के चक्कर काटते देखे गए, इन गरीबों के एक हाथ में इनके समान का बेग ओर दूसरे हाथ में मासूम बच्चे को देखकर इनकी मुश्किलों का अंदाजा लगाना काफी मुश्किल है।

कई गरीब श्रमिक दाबेल से तो कई कच्चीगांव से तो कई भीमपुर जैसे अलग अलग क्षेत्रों से समाहर्ता कार्यालय अपने गाँव जाने के लिए फार्म भरने ओर फार्म की जानकारी लेने कई किलोमीटर का सफ़र पैदल कर रहे है। पेट में पहले से भूख कि आग ऊपर से तपते सूरज कि गर्मी ने भले-ही गरीबों कि कमर तोड़ दी हो लेकिन फिर भी उनका होसला नहीं तोड़ पाई।

दमण में ना बसों कि कमी है ना ही ड्राइवरों की। सारथी सेवा के बारे में भी लगभग सभी जानते है, इस लिए दमण प्रशासन को चाहिए कि उक्त गरीबों का कुछ दर्द कम करने के लिए जल्द से जल्द निशुल्क सारथी सेवा शुरू करें, ताकि भूख से परेशान गरीबों को कम से कम पेदल चलने के दर्द से तो छुटकारा मिले।