दीव की शिक्षा व्यवस्था में आमूलचूल परिवर्तन का नारा : प्रशासक

दीव की शिक्षा व्यवस्था में आमूलचूल परिवर्तन का नारा : प्रशासक | Kranti Bhaskar
Diu News
दीव : देश के 71वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर मंगलवार को दीव स्थित पद्मभूषण स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स में दमण-दीव एवं दादरा नगर हवेली के प्रशासक प्रफुल पटेल ने तिरंगा फहराया. दीव के इतिहास में यह पहली बार है जब किसी प्रशासक ने दीव में झंडा फहराया हो. इस अवसर का साक्षी बनने के लिए अपार जनसमूह पद्मभूषण स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स ग्राउंड में उमड़ पड़ा था. सुबह करीब 09 बजे जैसे ही प्रशासक का काफिला ग्राउंड में पहुंचा, लोगों ने खड़े होकर करतल ध्वनि के साथ प्रशासक का अभिनंदन किया. प्रशासक के राष्ट्रध्वज फहराते ही राष्ट्रगान आरंभ हुआ. इसके बाद प्रशासक ने वंदे मातरम और भारत माता की जय की जयघोष के साथ दीव के जनमानस की भाषा गुजराती में अपना संबोधन आरंभ किया.
स्वतंत्रता दिवस पर प्रशासक ने फहराया तिरंगा
प्रशासक ने सबसे पहले देश की आजादी में अपने प्राणों की आहूति देने वाले तमाम वीर सपूतों को याद कर उन्हें श्रद्धापूर्वक नमन किया. उन्होंने देश के साथ-साथ इस प्रदेश के विकास में अपना योगदान देनेवाले महानुभावों को भी नमन किया. प्रशासक ने अपने  उद्बोधन में भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के किए गए प्रयासों को बार-बार याद किया. उन्होंने जहां एक ओर मोदी के डिजिटल इंडिया, नोटबंदी और संकल्प से सिद्धि की बात की, वहीं दूसरी ओर इन सपनों को साकार करने में संघ प्रदेश दमण-दीव एवं दादरा नगर हवेली के अमूल्य योगदान को भी रेखांकित किया. उन्होंने कहा कि डिजिटल इंडिया के स्वप्न को साकार करते हुए प्रदेश में विविध जगहों पर फ्री वाई-फाई की सुविधा प्रदान की गई, जिसका लाखों लोगों ने लाभ उठाया. नोटबंदी के मुद्दे पर बोलते हुए उन्होंने लेस कैश की बात कही. उन्होंने कहा कि अब लोग अपना पैसा घरों में न रखकर बैंकों में रखना आरंभ कर दिए हैं, इससे देश की अर्थव्यवस्था को गति मिली है.
प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि दमण के प्राईंमरी और अपर प्राईंमरी विद्यालयों की भवनों को बेहतरीन बना दिया गया है. उन्होंने आनेवाले समय में दीव की शिक्षा व्यवस्था में भी आमूलचूल परिवर्तन की बात कही. उन्होंने यह भी घोषणा की कि भविष्य में हम अपना यूनिवर्सिटी स्थापित करेंगे, जिससे यहां के विद्यार्थियों को उच्च शिक्षा हेतु इधर-उधर न जाना पड़े. स्थानीय युवकों को सरकारी नौकरी मुहैया कराने के मुद्दे पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि प्रशासन ने एक भर्ती बोर्ड का गठन किया है. इसके बदौलत अब सभी को बिना किसी लाग-लपेट एवं बिना पहुंच के पात्रता के आधार पर नौकरी मुहैया कराई जाएगी.
प्रशासक ने दीव में बिजली, पानी जैसे ज्वलंत मुद्दों पर भी लोगों को संबोधित किया. उन्होंने कहा कि पूरे देश में दीव एक ऐसा जिला है, जो अपनी जरूरत की बिजली सौर ऊर्जा से प्राप्त करता है. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने स्वयं इस उपलब्धि की तारीफ की है. उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश में सभी लोगों को ट्रीटेड पानी मुहैया कराया जा रहा है, थोड़ा-बहुत काम बाकी है, वो भी जल्द ही पूरा कर लिया जाएगा. स्वच्छ भारत मिशन पर उन्होंने कहा कि दीव एक अत्यंत ही रमणीय स्थल है. यहां की सड़कें, गलियां, चौराहे-सबकुछ एकदम साफ-सुथरे हैं और यह सिद्धि आप-सबके सहयोग से ही संभव हुआ है. हमारे प्रधानमंत्री की भी इस प्रदेश पर विशेष दृष्टि है. यही कारण है कि प्रधानमंत्री ने दमण-दीव एवं दादरा नगर हवेली दोनों प्रदेशों की मुलाकात ली है. प्रशासक के संबोधन के दौरान जब बारिस होने लगी और सामियाने में थोड़ी अफरा-तफरी का माहौल हुआ, तो उन्होंने कहा कि ‘Óहम परेशानियों से भागने वाले नहीं, बल्कि उससे लडऩे वाले लोग हैं.’Ó उनके इस उद्घोष ने जादू-सा असर किया और लोग भरी बरसात में अपने प्रशासक की बात सुनने के लिए डटे रहे. अंत में प्रशासक ने सभी लोगों को धन्यवाद और स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं देते हुए अपना उद्बोधन समाप्त किया. बाद में उन्होंने परेड की सलामी ली तथा विविध क्षेत्रों में उपलब्धि हासिल किए प्रतिभावानों को पुरस्कृत भी किया. इस अवसर पर बालभवन बोर्ड एवं विद्यालयों के बालिकाओं द्वारा रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किए गये.