ज्ञानगंगा स्कूल में लाइबे्ररी तथा वृक्षारोपण कार्यक्रम का आयोजन 

ज्ञानगंगा स्कूल में लाइबे्ररी तथा वृक्षारोपण कार्यक्रम का आयोजन  | Kranti Bhaskar
Gnyan Ganga School Vapi
वापी : वापी स्थित ज्ञानगंगा इंग्लिश मीडियम स्कूल में गुरूवार को लाइब्रेरी, चिल्ड्रन ट्रोय लाइब्रेरी तथा वृक्षारोपण का कार्यक्रम प्रखर गांधीवादी गफुरभाई बिलखिया, उद्योगपति शरदभाई ठाकर, डॉ. मिनाक्षी शेठ, मुंबई से चिल्ड्रन ट्रोय फाउंडेशन के फाउंडर देवेन्द्र देसाई, अरूणभाई मेहता, वलसाड से आये जागृति एवं भावनाबेन, शाला के फाउंडर रमणभाई पटेल, ट्रस्टी संदीप पटेल की अध्यक्षता में आयोजित की गयी. इस मौके पर सर्वप्रथम संदीपभाई पटेल द्वारा आये तमाम मेहमानों का पुष्पगुच्छ द्वारा स्वागत किया गया और लाइब्रेरी तथा चिल्ड्रेन ट्रोय लाईब्रेरी का रिबन काटकर दीप प्रज्जवलित कर उदघाटन किया गया. इसके बाद तमाम मेहमानों ने स्कूल के बालकों एवं शिक्षकों द्वारा स्कूल परिसर में वृक्षारोपण किया गया. चिल्ड्रेन ट्रोय फाउंडेशन के फाउंडर देवेन्द्र देसाई ने बताया कि मनोरंजन के साथा ज्ञान मिल सके साथ ही समूह में खेल खेले जाने से सहकार की भावना बढ़ सके इसके साथ साथ बालकों शाला में इस प्रकार के गेम खेलने से शाला में बालक आने के लिए उत्साहित बनते है. प्रो. रफीक साहेब ने बताया कि बालकों का सम्पूर्ण विकास करना हो तो पाठ्य पुस्तक के साथ बाहर का ज्ञान दिलाना काफी जरूरी है. इसके लिए लाइब्रेरी ही सबसे अच्छा माध्यम ज्ञान प्राप्त करने का है. डॉ. मिनाक्षी शेठ ने कहा कि बालकों को जो इनोवेटिव बनाना हो तो विविध एक्टीविटी कराना चाहिए जिससे बालकों का शारीरिक के साथ मानसिक विकास सरलता से हो सकता है. खेलते-खेलते सिखना ही काफी असरकारक एवं लॉग लाइफ मेमरी हर जाये ऐसी पद्धति है. जिससे चिल्ड्रन ट्रोय लाइब्रेरी शाला के बालकों को काफी मददरूप होगा ऐसी आशा व्यक्त की. इस बारे में गफुर दादा ने बताया कि आज के जमाना में बालकों यांत्रिक बन गये है. माता-पिता, बालकों के प्रति काफी ऊंची आशा रखने से बालक जीवन क्या है वह भुल गये है एवं ऊंची डिग्रीनेज जीवन का ध्येय मान बैठे है. तब स्कूल में इस प्रकार के खेल के साथ पढ़ाई कराया जाये तो बालकों के सम्पूर्ण विकास हो सकेगा एवं वह जीवन का आनंद ले सकेंगे. साथ ही उन्होंने शाला को एक लाख रूपये का दान देने की भी घोषणा की. स्कूल के ट्रस्टी संदीपभाई पटेल ने तमाम मेहमानों का आभार व्यक्त किया एवं आने वाले वर्ष में स्कूल काफी मेहनत कर समाज के लिए एवं भारत देश के लिए साहसिक, निष्ठावान एवं देशदाज से भरे युवा बनाने के लिए स्कूल में प्रयास करेंगे, ऐसा कहा. स्कूल के प्रिंसिपल द्वारा तमाम आमंत्रित मेहमानों का स्कूल के शिक्षकों एवं विद्यार्थियों का आभार व्यक्त किया गया एवं उनके मार्गदर्शन के तहत शाला परिसर को हरियाली बनाने के लिए ग्लोबल वार्मिंग की समस्या के सामने लडऩे के लिए स्कूल में वृक्षारोपण का कार्यक्रम को पूर्ण किया गया. जिसमें तमाम मेहमानों तथा स्कूल स्टॉफ एवं विद्यार्थियों भी शामिल हुए.