बड़ा भाई फ़रार और छोटा गृहमंत्री का सलाहकार…

बड़ा भाई फ़रार और छोटा गृहमंत्री का सलाहकार... | Kranti Bhaskar image 2
home minister advisory committee

संध प्रदेश दमन-दीव के विकास हेतु हालही में गृह गृहमंत्री सलाहकार समिति की बैठक आयोजित की गई। बताया जाता है की इस बैठक में दमन-दीव से सांसद लालू पटेल, डीएमसी प्रेसिडेंट शौकत मिठाणी, जिला पंचायत अध्यक्ष सुरेश पटेल, तरुणा पटेल, बी. एम. माछी, वासू पटेल, फाल्गुनी पटेल, किरीट वाजा, सलीम मेमण सहित के सदस्य मौजूद रहे। इस बैठक में दमन-दीव कई विकास कार्यों एवं जन कल्याण हेतु सरकारी योजनाओ पर चर्चा हुई तथा कई नए विकास कार्यों पर भी बात-चित एवं विचार-विमर्श किए गए।

Kranti Bhaskar - Daman News, Silvassa News, Vapi News and Valsad News | सूखा पटेल भाजपा के नेता है या कांग्रेस के ? image 1

इस बैठक के बाद आम जनों में सुरेश पटेल उर्फ सूखा भाई को लेकर भिन्न-भिन्न प्रकार की चर्चाओं से बाज़ार गरम देखा गए। चर्चा यह है की जिस सुरेश पटेल ने गृहमंत्री सलाहकार समिति की बैठक में भाग लिया, उसी सुरेश पटेल पर गुजरात में शराब तस्करी के कई मामले गुजरात में दर्ज बताए जाते है, इसके अलावे सुरेश पटेल के बड़े भाई रमेश पटेल उर्फ माइकल पर भी गुजरात में शराब सप्लाई के कई मामले चल रहे है, अभी कुछ समय पहले ही रमेश पटेल के यहाँ इंफोर्समेंट डाइरेक्ट्रेट का भी छापा पड़ा था छापे के दौरान इंफोर्समेंट डाइरेक्ट्रेट को करोड़ो के घपले और टैक्स चोरी की जानकारी मिली, इसके बाद से रमेश पटेल अब तक फ़रार बताए जाते है।

बड़ा भाई शराब तस्करी और टैक्स चोरी संबन्धित मामलों में फ़रार और छोटा भाई देश के गृहमंत्री की सलाहकार समिति की मीटिंग में गृह मंत्री श्री राजनाथ सिंह के साथ।

बड़े चोकाने वाली बात है की सुरेश पटेल उर्फ सूखा भाई तथा रमेश पटेल उर्फ रमेश माइकल इन दोनों ने ही कई बार गुजरात पुलिस के नाक में दम करके रख दिया, इस वक्त देश में सरकार भाजपा की है और गुजरात में भी भाजपा सरकार है फिर क्या देश के गृहमंत्री श्री राजनाथ सिंह को सुरेश पटेल उर्फ सूखा भाई पर गुजरात में चल रहे मामलो की जानकारी नहीं थी? क्या गृहमंत्री को यह पता नहीं था की अभी कुछ समय पहले ही दमन-दीव में जो अब तक का सबसे बड़ा छापा इंफोर्समेंट डाइरेक्ट्रेट द्वारा मारा गया वह छापा सुरेश पटेल के भाई रमेश पटेल के यहाँ था?

ये भी पढ़ें-   मेडिकल कॉलेज के लिए माछी समाज ने प्रशासक का माना आभार 

एक समय इसी सुरेश पटेल की करतूतों के चलते भाजपा के नेता श्री लालकृण आडवाणी पर उंगली उठी थी, जब सुरेश पटेल, श्री आडवाणी के मंच पर दिखाई दिए थे, लेकिन अब जबकि गृहमंत्री श्री राजनाथ सिंह के साथ दिखाई दिए है तो एक बार फिर से चर्चा और सवालो का बाज़ार गरम होता दिखाई गिया।

ये भी पढ़ें-  प्रशासक आशीष कुन्द्रा का गृह मंत्री राजनाथ सिंह के बेटे पंकज सिंह का क्या नाता ?

कुछ समय पहले रमेश पटेल उर्फ माइकल का भी एक फोटो वाइरल हुआ था, उक्त फोटो में रमेश पटेल उर्फ माइकल गुजरात के मुख्यमंत्री के साथ दिखाई दिए थे, जिस दिन से वह फोटो वायरल हुआ शायद उस दिन से लगता है रमेश पटेल के पापो का घड़ा भरने को आ गया और माइकल की उल्टी गिनती शुरू हो गई।

वैसे सूत्रो के अनुसार अब भी सुरेश पटेल द्वारा गुजरात में शराब तस्करी जारी है, जल्द क्रांति भास्कर सुरेश पटेल उर्फ सूखा भाई द्वारा की जा रही शराब तस्करी की भांडा-फोड़ करेगी।

ये भी पढ़ें-  भ्रष्ट अधिकारियों की लिस्ट में IFS डेबेन्द्र दलाई का नाम सबसे ऊपर!

शराब-माफ़िया रमेश माइकल के यहाँ छापा…

सूखा के नाम पर भीमपोर में टपोरिगीरी…

अब अगर ग्रहमंत्री की सलाहकार समिति की बैठक में सुरेश पटेल को भी शामिल किया जाए तो उन्हे गृह मंत्री का सलाहकार ही कहा जाएगा, फिर चाहे उनकी सहाल पर गृह मंत्री विचार करे या ना करे, इस समिति की बैठक में भाग लेने से अब गृह मंत्री को यह जवाब देना होगा की एक आपराधिक परवर्ती वाले व्यक्ति को जिस पर कई मामले न्यायालयों में लंबित है उसे कैसे गृह मंत्री की सलाहकार समिति का सदस्य बनाया गया, और यदि यह सदस्य नहीं तो कैसे उक्त व्यक्ति को इस बैठक में शामिल किया गया।

क्या गृह मंत्री इस बात की भी जानकारी नहीं रखते की उनकी समिति कमिटी में जो सदस्य है उन पर कितने मामले दर्ज है तथा फिलवक्त उनके क्या कारोबार है, गृह मंत्री को इस मामले में ध्यान देने की आवश्यकता है।