“ठगो का सरदार” ठेकदार राजेश चोधरी!

Rajesh 420
Rajesh 420

वलसाड जिले एवं दमन की इकाइयों में ठेका चलाने वाली कंपनी का नाम सुनेना कॉर्पोरेशन बताया जाता है उक्त कंपनी का रजिस्ट्रेशन वैसे तो वलसाड के उदवाड़ा में किया गया है लेकिन उक्त कंपनी के ठेके वलसाड के अलावे दमन में भी है।

उक्त कंपनी एवं कंपनी के मालिक राजेश चोधरी के बारे में बताया जाता है कि उक्त ठेकदार मजदूरो के हकों का पैसा भी हड़प कर जाता है, ना ही पी-एफ मिलता है ना ही समय पर मजदूरी मिलती है, मजदूरो के साथ गाली-गलोच और दुर्व्यवहार तो मानो आम बात है!

ये भी पढ़ें-  वापी के बलीठा क्षेत्र से एक कोरोना पॉजिटिव केस सामने आया है।

बताया जाता है की पिछले कई वर्षों से हजारो श्रमिकों का पी-एफ हड़प करने के बाद भी उक्त ठेकदार बदस्तूर पी-एफ चोरी जारी रखे है, इसके अलावे अब उक्त ठेकदार जी-एस-टी को भी ठेंदा दिखा रहा है, दमन की इकाइयों से श्रमिकों का वेतन वसूलने के बाद भी उक्त ठेकेदार कैसे अब तक सरकार की नजरों से बचा है यह तो संबन्धित विभाग को सोचना चाहिए, वैसे उक्त ठेकदार ठगो का सरदार इस लिए भी कहा जा रहा है क्यो की श्रमिकों को सुविधा के लिए जो राशन, बर्तन कपड़े ठेकदार दुकानदार से उधार लेता है उनके पैसे तो श्रमिक के वेतन में से काट लिए जाते है लेकिन बर्तन, राशन और कपड़े देने वाले दुकानदार को केवल चकार ही कटाए जाते है, दमन तथा वापी के कई दुकानदार भी काफी लंबे समय से इस ठेकदार को ढूंढ रहे है कुछ दुकानदारो को तो इस ठेकदार ने अपने चेक भी दे रखे है लेकिन अब तक उक्त ठेकदार किसी के हाथ नहीं आया।

ये भी पढ़ें-  विधानसभा चुनाव के संबंध में जिला चुनाव अधिकारी ने नोडल अधिकारियों संग की समीक्षा बैठक 

वलसाड श्रमिक विभाग, दमन श्रमिक विभाग एवं वलसाड पी-एफ विभाग को सुनेना कॉर्पोरेशन की पूरी जांच कर यह पता लगाने की आवश्यकता है की अब तक उक्त ठेकेदार ने कितनी कंपनियो में ठेके चलाए और कितने श्रमिकों का पी-एफ चोरी किया। शेष फिर।