सीबीआई एवं एंटीक्रप्शन अधिकारी बनकर करते थे वसूली! 

वापी : वापी पुलिस ने राशन की दुकानों में सरकारी ऑफिसर बनकर दुकानदारों से वसूली करने वाले गैंग का पर्दाफाश कर दिया है। जानकारी के अनुसार वापी पंथकमां राशन की दुकान मालिक एक गैंग के सक्रिय होने से बहुत परेशान हो गया था और गैंग वाले गवर्नमेंट ऑफ इंडिया की गाड़ी लेकर राशन की दुकान संचालकों को धमकी देकर वसूली करते थे। एक जागरूक दुकानदार ने इस मामले पर पुलिस फरियाद दर्ज कराई थी तथा इस मामले में डूंगरा पुलिस ने तत्कालिक कार्रवाई करते हुये गैंग का फर्दाफाश किया है। वापी छिरी एवं राता जो आदिवासियों के विस्तार से राशन दुकान के संचालकों से रुपया वसूलते थे। पुलिस द्वारा प्राथमिक जांच में पता चला है कि गैंग द्वारा वापी से करीब 60 हजार रुपये की वसूली का मामला सामने आया है। गैंग का मुख्य आरोपी प्रवीण कुमार मजेठीया पुलिस की पकड़ में आया है। जिसके साथ तीन अन्य शामिल थे। जो पुलिस के आने की सूचना मिलते ही फरार हो गये। पुलिस ने प्रवीण को गिरफ्तार करके तीनों के बारे में पूछताछ शुरू कर दी है। प्रवीण मूल रूप से जुनागढ़ का निवासी है। इस गैंग के लोग राशन दुकान संचालकों से सीबीआई एवं एंटीक्रप्शन जैसे अधिकारियों की रौब दिखाकर पैसा वसूलते थे। वापी के जागरूक राशन दुकान के संचालकों द्वारा ठगों पुलिस द्वारा गिरफ्तार कराया है।