“सावधान वापी” कलर-केमिकल युक्त भोजन हानिकारक है!

“सावधान वापी” कलर-केमिकल युक्त भोजन हानिकारक है! | Kranti Bhaskar image 1
Vapi Hotel

वापी : गुजरात के वलसाड जिले का वापी शहर एक ओधोगिक नगरी के रूप में जाना जाता है। यहां ना ही उधोगों की कमी है ना ही श्रमिकों की और ना ही होटलो की। लेकिन शायद आपको यह पता ना हो की जिस होटल में आप ख़ाना खाने जाते है उसके किचन में कितनी सफाई है और और उस भोजन में कितने किस्म के कलर-केमिकल है।

 

क्रांति भास्कर ने इस मामले में कई होटलो के बारे में तथा होटलो में मिलने वाले भोजन ( खाने ) की जांच पड़ताल की तो पता चला की कई होटले एसी है जहां भोजन में ग्राहकों को बे-फिक्र होकर कलर और केमिकल्स युक्त भोजन परोसा जाता है।

ये भी पढ़ें-  महिला सशक्तिकरण पखवाड़ा-2017 अंतर्गत मनाया गया महिला स्वच्छता जागृति दिवस

इससे भी अधिक हेरानी की बात यह है की अधिकतर ग्राहकों होटल में भोजन करने से पहले ही पता होता है की यहां के भोजन में कलर केमिकल्स मिले हुए है, फिर भी इस बात को नज़र अंदाज करते हुए उक्त ग्राहक वह भोजन करने से नहीं कतराता, वैसे कई ग्राहक ऐसे भी है जिनहे भोजन में मिलने वाले कलर केमिकल्स की जानकारी नहीं होती, जानकारी का अभाव रखने वाले ग्राहक अधिकतर श्रमिक होते है जो मिलो दूरी का सफर कर दो-वक्त की रोटी की तलाश में परदेश आए लेकिन वहा भी शुद्धता के अभाव ने बीमार कर दिया!

hotel-papillon, Vapi Hotel
hotel-papillon, Vapi Hotel

वैसे यदि इस मामले को प्रशासन की नज़र से देखा जाए तो होटल मालिक ग्राहकों को कितनी शुद्धता का भोजन परोसता है इसका जिम्मा खाध्य विभाग के अधिकारी का होता है, लेकिन जानकारो का मानना है की विभागीय अधिकारी भी इस मामले को मामूली मामला समझकर वैसे ही नज़र अंदाज कर रही है जैसे की कुछ ग्राहक भोजन की सत्यता जानकार भी उसके जायके से दूरी नहीं बनाते।

ये भी पढ़ें-  वापी के गोदाल नगर ओर पारडी के युवक को कोरोना पॉज़िटिव।
new-janta-restaurant-industrial-estate-vapi-hotel
new-janta-restaurant-industrial-estate-vapi-hotel

समय रहते इस मामले में फूड एंव सेफ़्टी विभाग के अधिकारियों को वापी की होटलो में निरक्षण करना चाहिए और साथ ही साथ होटलो में भोजन करने वाले वाले ग्राहकों को भी इस बात पर ध्यान देना चाहिए की जिस होटल में वह भोजन कर रहे है उस होटल के भोजन की शुद्धता कितनी है।