दमण समाहर्ता पद पर काम करने वाले, IAS अधिकारी हेडक्वाटर छोड़कर लॉ कॉलेज में लेते रहे शिक्षा?

DNH collector
DNH collector

दमण। संध प्रदेश दमण-दीव तथा दादरा नगर हवेली के IAS अधिकारी संदीप कुमार के बारे में जानकारी मिली है कि वह पिछले कई वर्षों से वलसाड के लॉ कॉलेज में शिक्षा प्राप्त कर रहे है! यह जानकारी चौकाने वाली इस लिए है क्यो कि जिस आई-ए-एस अधिकारी का नाम सामने आया है वह दमण के समाहर्ता पद पर कार्य कर चुके है। अब सवाल यह उठता है कि समाहर्ता पद पर काम करने वाले अधिकारी को हेडक्वाटर छोड़कर प्रदेश के बाहर जाने कि अनुमति कैसे मिली? अनुमति मिली भी या नहीं? सवाल कई है? वैसे उक्त मामले में जानकारी मिलने के बाद मामले कि सच्चाई जानने के लिए दमण-दीव प्रशासन कि वेबसाइट पर दिए गए संपर्क नंबर पर भी संपर्क किया गया, लेकिन फोन बजता रहा किसी ने फोन उठाकर जवाब नहीं दिया। प्रशासन के एक अन्य ऐसे अधिकारी से भी बात कि गई जो पर्सनल विभाग में काम कर चुके है उनसे भी मिली जानकारी पर सवाल किया गया कि जानकारी सही है या नहीं, लेकिन उन्होने कहा कि उन्हे नहीं पता, वह छुट्टी पर है।

ये भी पढ़ें-  गोपाल दादा के नेतृत्व में दमण कलेक्टर से मिला भाजपा प्रतिनिधि मंडल

अब मिली जानकारी यदि सही है तो कमाल कि बात है कि एक आई-ए-एस अधिकारी पिछले लंबे समय से समाहर्ता पद पर रहते हुए, अपने हेडक्वाटर को छोड़, अन्य प्रदेश में शिक्षा के लिए जाते रहे जिसकी भनक जनता को नहीं लगी। खेर इस पूरे मामले में कितनी सच्चाई है इसकी टोह लेने के लिए तो प्रशासन है ही। प्रशासन को चाहिए कि वह पता लगाए कि क्या वाकई समाहर्ता पद पर काम करने वाला एक आई-ए-एस अधिकारी अपना हेडक्वाटर छोड़कर अन्य प्रदेश में शिक्षा के लिए जाता रहा? क्या प्रशासन से उक्त अधिकारी ने इसके लिए स्वीकृति ली? या फिर जनता कि तरह प्रशासन भी इस जानकारी से अनभिज्ञ है।

ये भी पढ़ें-  क्या समाहर्ता संदीप कुमार ने यह कहा था कि सभी अवैध इमारतों के मालिक को बिजली-पानी काटने की धम्की देकर बुलाओ, उनसे अच्छे खासे धन की उगाही करनी है?

यह भी पढिए…