दमन में माफियागिरी और भाईगीरी का नंगा नाच, दिन-दहाड़े, अजय पटेल पर दो-राउंड फाइरिंग!

दमन में माफियागिरी और भाईगीरी का नंगा नाच, दिन-दहाड़े, अजय पटेल पर दो-राउंड फाइरिंग! | Kranti Bhaskar
Ajay Patel

संध प्रदेश दमन के अलग-अलग क्षेत्रो में अलग-अलग भाई अपनी भाईगीरी और माफियागिरी की जो अवैध दुकान बे-हिचक चला रहे है उसके बारे में क्रांति भास्कर कई ख़बरे प्रमुखता से प्रकाशित कर चुकी है इसके अलावे कई ऐसे नामों का खुलासा भी कर चुकी है जिनके नाम भाईगीरी और माफियागिरी में लिए जाते रहे है तथा जिनके संरक्षण में भाईगीरी और माफियागिरी पनपती रही है, लेकिन उन तमाम खुलासो के बाद भी ना जाने अब तक दमन-दीव प्रशासन तथा दमन पुलिस किस अनहोनी का इंतजार करती रही।

आज दोपहर को दमन के भीमपोर क्षेत्र में अजय रमण पटेल के कार्यालय पर कुछ अज्ञातों नकाबपोशों ने अजय रमण पटेल पर गोलीय दागनी शुरू कर दी, भीमपोर निवासी अजय रमण पटेल ने भीमपोर आउटपोस्ट पुलिस को बताया कि आज दोपहर 3.30 बजे के आसपास वह भीमपोर कुंड फलिया स्थित ऑफिस पर जा रहे थे।

तभी स्वीफ्ट कार में आये 2 से 3 नकाबपोश लोगों ने अजय रमण पटेल को निशाना बनाते हुए 2 राउंड फायरिंग की। इस फायरिंग में अजय रमण पटेल बाल-बाल बचे और फायरिंग की आवाज सुनकर तुरंत वहां से भागकर झाडियों में छिप गये। इस घटना के बाद अजय रमण पटेल का मेडिकल ट्रीटमेंट कराया गया तथा अजय रमण पटेल की शिकायत पर दमण पुलिस ने तुरंत एक्शन लेते हुए फायरिंग करने वाले लोगों की खोजबीन में जुट गई है।

ये भी पढ़ें-  दमन-दीव भाजपा अध्यक्ष गोपाल टंडेल की कुर्सी ख़तरे में।

इसी मामले में क्रांति भास्कर से बात करते हुए अजय रमण पटेल ने यह बताया की दमन पुलिस को उन्होने इस मामले में यह जानकारी भी दी है की उन्हे इस मामले में दमन जिला पंचायत के अध्यक्ष सुरेश पटेल उर्फ सुखभाई पर शक है तथा सुरेश पटेल उर्फ सुखभाई के इशारे पर उन पर यह जानलेवा हमला हुआ है, अब यह सही है या नहीं यह तो जांच के बाद ही पता चलेगा, लेकिन दमन में बार बार भाईगीरी और माफियागिरी के नंगे नाच को देखते हुए प्रशासक प्रफुल पटेल को चाहिए की इस मामले में सच सामने लाने के लिए तथा हमेशा हमेशा के लिए ऐसे मामलो पर अंकुश लगाने के लिए, इस मामले की सीबीआई से जांच करवाए ताकि गुनहगारो को बच निकालने का कोई मोका ना मिल सके तथा आने वाले समय में ऐसे मामलों में हमेशा के लिए अंकुश लग सके।  

ये भी पढ़ें-  दमण पुलिस थाने में हाजिर होने के बजाए हुआ था रफूचक्कर, दमण पुलिस ने किया केतन को मुंबई में गिरफ्तार।

हालांकि इस मामले वास्तविक हकीकत क्या है तथा किसके इशारो पर तथा किस शाजिस के तहत अजय रमण पटेल पर जानलेवा हमला किया गया? यह तो आने वाले समय में पुलिस की जांच पूरी होने के बाद ही पता चल पाएगा।

लेकिन क्या अजय रमण पटेल द्वारा दमन पुलिस को दी गई जानकारी के आधार पर, अब दमन पुलिस सुरेश पटेल उर्फ सूखा भाई के नाम पर यह एफ-आई-आर दर्ज करेगी? यह सवाल इस लिए है क्यो की इससे पहले भी कई मामलों में सुरेश पटेल उर्फ सुखभाई पर आरोप लगते रहे है, लेकिन दमन पुलिस द्वारा उन मामलो में अब तक कोई ठोस कार्यवाही देखने को नहीं मिली।

क्रांति भास्कर भी सुरेश पटेल उर्फ सुखभाई की भाईगीरी तथा माफियागिरी का कच्चा चिट्टा प्रशासन तथा जनता के सामने रख चुकी है, लेकिन शायद जिला पंचायत के अध्यक्ष पद की कुर्सी, सुरेश पटेल उर्फ सुखभाई को संरक्षण देने का काम कर रही है लेकिन अब जिस मामले में सुरेश पटेल उर्फ सुखभाई पर आरोप लगे है वह मामला इतना संगीन है जिसे ना ही दमन-दीव की जनता नज़र अंदाज कर सकती है ना ही प्रशासन। शेष फिर।

ये भी पढ़ें-  केतन एनजीओ ने दमणवाड़ा के गरीब परिवार को लिया गोद 

यह भी पढे… अन्य ख़बरे…

  1. अब यदि एक ओपन-हाउस हफ्ता-खोरों पर लगाम के लिए भी हो जाए, तो दमन हफ्ता-मुक्त प्रदेश बन जाए।
  2. दमन को हफ्ता-मुक्त प्रदेश बनाने की उम्मीद….
  3. दमन में हो रही हफ्ता-वसूली पर बड़ा खुलासा…
  4. सुरेश पटेल उर्फ सुखाभाई की वाइन शॉप पर गुजरात पुलिस की छापे-मारी।
  5. बड़ा भाई फ़रार और छोटा गृहमंत्री का सलाहकार…
  6. दमन में शराब के थोक विक्रेताओं द्वारा नियमों का थोक में उलंधन…
  7. शराब-माफ़िया रमेश माइकल के बाद अब किसका नंबर?
  8. सूखा पटेल कि सुज्लोन को धम्की… कहाँ विनोद यादव का ठेका बंद करो।
  9. सूखा के नाम पर भीमपोर में टपोरिगीरी…