चुनाव आए तो जनता याद आई, फिर क्या, जनता को भी सब याद आ गया।

Ketan Patel Daman
Ketan Patel Daman

चुनाव आयोग द्वारा चुनाव की तारीखों की घोषणा के त्वरित बाद, दमण-दीव कांग्रेस अध्यक्ष केतन पटेल ने प्रेस कोन्फ्रेंस की। दमण-दिव कांग्रेस अध्यक्ष केतन पटेल ने पत्रकार परिषद आयोजित कर 2019 के चुनाव का बिगुल फूँक दिया है, दमण-दीव लोक सभा में भाजपा की और से उम्मीदवार कोन होगा यह तो अभी तय नहीं हुआ है लेकिन कांग्रेस की और से केतन पटेल की उम्मीदवारी तय है।

कांग्रेस अध्यक्ष केतन पटेल ने चुनाव के लिए संकल्प पत्र घोषित करते हुए बताया की दमण दीव के किसानो को खेती के लिए निशुल्क बिज़ली दी जाएगी तथा घरेलू बिज़ली 300 यूनिट फ्री की जाएगी। केतन पटेल के इस वादे ने उस दिन की याद दिला दी, जब केतन पटेल का परिवार करोड़ो के बिज़ली बील बकाया मामले में फंसा। करोड़ो की बिज़ली बकाया मामले में कोर्ट के चक्कर काटने के बाद, अब दमण-दीव की जनता को खेती के लिए मुफ्त बिज़ली का वादा तो केतन पटेल ने कर दिया लेकिन विधुत विभाग के भ्रष्टाचार पर कोई बात नहीं की।

ये भी पढ़ें-  गृहमंत्री राजनाथ सिंह जी का दो-दिवसीय दीव दौरा संपन्न

बिज़ली के अलावे जमीन मामले में भी दमण-दीव कांग्रेस अध्यक्ष केतन पटेल ने बड़ा वादा किया है। केतन पटेल ने बताया की पुर्तगालियों द्वारा खेती के लिए दी गई जमीन भाजपा सरकार ने वापस ले ली अब उन जमीनो को गोवा के तर्ज पर पुनः किसानो को दी जाएगी।

वैसे केतन पटेल तथा केतन पटेल के परिवार द्वारा दमण-दीव के स्थानिक निवासियों को बेहला-फुसला कर कितनी जमीने कम दामो पर अपने तथा अपने परिवार के नाम की गई? दमण-दीव की जनता भली भांति जानती है। दमण-दीव में कांग्रेस अध्यक्ष केतन पटेल को चुनावी समय में जनता याद आई, जनता की समस्याएँ याद आई तो केतन पटेल ने एक वादा और कर दिया। वादा है मुफ्त पानी देने का। केतन पटेल ने बताया की प्रतिमाह 8000 लीटर मुफ्त पानी दिया जाएगा। इस पर पुनः केतन पटेल पर दर्ज मामला याद आ गया। केतन पटेल पर एक कंपनी ने केश दर्ज किया था की केतन पटेल उन्हे प्रतिमाह पानी का बील देते है, पानी के पैसे लेते है, लेकिन पानी नहीं देते, अब जो नेता पानी के पैसे लेकर पानी नहीं देता वह मुफ्त मे पानी कैसे देगा? यह दमण-दीव की जनता सोच रही है।

ये भी पढ़ें-  दमण समाहर्ता पद पर काम करने वाले, IAS अधिकारी हेडक्वाटर छोड़कर लॉ कॉलेज में लेते रहे शिक्षा?

वादे अभी खत्म नहीं हुए वादे और भी है, अंत में केतन पटेल ने बताया की वर्क चार्ज डेलीवेजस पर काम करने वालो को पक्की नोकरी दी जाएगी, उन्हे रेग्युलर किया जाएगा तथा स्वनिर्भर परिवारों को 8 हजार की सहायता, मिनिमम इन्कम गारंटी के तहत 5 से 7 हजार तक एक तय रकम देने की बात भी कही है। अब कांग्रेस अध्यक्ष केतन पटेल द्वार किए इन वादो पर जनता कितना विश्वास करती है यह तो वक्त बताएगा। उक्त सभी वादो को देखकर लगता है कि इस बार चुनाव में कौवे भी कोयल का राग अलापेंगे।

यह भी पढे… 


ये भी पढ़ें-  निर्दलीय प्रत्याशी मोहन डेलकर ने दाखिल किया नामांकन